रिश्तेदार संग शादी से मना करने पर मिली मौत की सजा, सामने आया ऑनर किलिंग का दिल दहला देने वाला मामला

Updated on 25 Apr, 2018 at 5:51 pm

Advertisement

ऑनर किलिंग, मतलब सम्मान की खातिर अपने ही कलेजे के टुकड़े को मौत के घाट उतार देना। हमारे चारो ओर ऑनर किलिंग के कई मामले आए दिन अखबारों की सुर्खियां बनते रहते हैं। इन मामलों का घिनौनापन व इनकी संख्या से जुड़े तथ्यों पर एक नजर डालने के बाद एक ही सवाल मन में उठता है, क्या समाज का स्तर इतना गिर चुका है कि एक जिंदगी की कीमत लोगों को अपने झूठे सम्मान से भी सस्ती लगने लगी है?

 

 

ऑनर किलिंग से जुड़ा एक और मामला सामने आने के बाद मन में उठे इन सवालों की तीव्रता और भी अधिक बढ़ गई है। यह ताजा मामला है पड़ोसी देश पाकिस्तान का। आइए जानते हैं इस मामले से जुड़ी सभी जानकारियां।

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत से आ रही खबरों के अनुसार एक 26 वर्षीय इतालियन-पाकिस्तानी युवती की कथित तौर पर उसी के घर वालों के द्वारा हत्या कर दी गई।

पाकिस्तानी समाचार चैनल जियो न्यूज़ की एक रिपोर्ट के अनुसार सना चीमा नामक इस युवती ने अपने ही एक रिश्तेदार संग शादी करने से मना कर दिया था, जिसके बाद लड़की के पिता, भाई व चाचा ने मिलकर उसकी जान ले ली।

 

 

पुलिस के अनुसार घर वालों ने युवती की मौत को महज एक दुर्घटना बताते हुए उसका शव वेस्ट मनगोवाल राज्य के गुजरात इलाके में दफ़न कर दिया था। सोशल मीडिया पर मामले की सच्चाई उजागर होने के बाद स्थानीय पुलिस ने हरकत में आते हुए मामले की तफ्तीश शुरू की।

रिपोर्ट्स के अनुसार लड़की का पिता गुलाम मुस्तफा अपने किसी रिश्तेदार से उसकी शादी करवाना चाहता था, लेकिन लड़की ने इस शादी से इंकार कर दिया और वह इटली में शादी करना चाहती थी। इस बात से बौखलाए पिता ने अपने भाई व बेटे के साथ मिलकर इस घिनौनी हरकत को अंजाम दिया। फिलहाल तीनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं।


Advertisement

 

 

ऑनर किलिंग की समस्या पाकिस्तान में फन फैलाये खड़ी नजर आती है। साल 2016 में भी एक 28 वर्षीय ब्रिटिश मूल की युवती सामिया को इसी वजह से अपनी जान गंवानी पड़ी थी। इसके अलावा सोशल मीडिया में अच्छा नाम कमा चुकी कंदील बलोच को भी उसके ही भाई ने ऑनर किलिंग के नाम पर गोलियों से भून दिया था।

 

 

पाकिस्तान में ऑनर किलिंग के नाम पर हत्याओं की संख्या काफी तेजी से बढ़ी है, वहीं हमारा देश भी संकीर्ण मानसिकता से उपजी इस समस्या से अछूता नहीं है। पाकिस्तान में हुई यह घटना हमारी अपनी सरजमीं पर भी कई बार दोहराई जा चुकी है।

 

 

जंगल में रहने वाले जानवर भी अपने बच्चों की रक्षा करने के लिए हद से गुजर जाते हैं, ऐसे में क्या हम इंसान इन जानवरों से भी बदतर हो चुके हैं जो समाज में झूठी शान की बात करते हुए हत्या जैसा कुकृत्य करने से भी नहीं हिचकिचाते?

इस सवाल का जवाब जरूर सोचिएगा, क्योंकि आज सोचेंगे तभी कल इंसानियत को बचा पाएंगे।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement