आखिरकार हनीप्रीत गिरफ्तार, कहा- “लोगों ने बाप-बेटी के रिश्ते को तार-तार किया”

Updated on 3 Oct, 2017 at 5:50 pm

Advertisement

39 दिनों से लापता हनीप्रीत को आखिरकार पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हनीप्रीत आखिरी बार बाबा गुरमीत राम रहीम के साथ रोहतक में देखी गई थी। उसके बाद से ही पुलिस को उसकी तलाश थी। उसके खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया गया था। हरियाणा में हुए दंगे के बाद पुलिस ने 43 मोस्ट वांटेड लोगों की सूची में हनीप्रीत का नाम भी रखा था। गिरफ्तारी से पहले हनीप्रीत ने मीडिया को दिए गए साक्षात्कार में खुद को निर्दोष बताया है।

गौरतलब है कि हनीप्रीत पर देशद्रोह का मामला दर्ज है। पंचकूला हिंसा के बाद से पुलिस हनीप्रीत की तलाश कर रही थी। हनीप्रीत ने आजतक टीवी चैनल को दिए गए साक्षात्कार में कई बातें सामने रखी है।

मैं ऐसी नहीं, जैसा आपने दिखाया।

मुझे मीडिया ने गलत तरीके से रिप्रेजेन्ट किया है।

“जिस हनीप्रीत को आपने दिखाया है, वो ऐसी नहीं है। उसे ऐसे दिखाया गया है कि उससे मैं खुद डरने लगी हूं। मैं अपनी मेंटल स्थिति बयां नहीं कर सकती हूं। मुझे देशद्रोही कहा गया है, जो बिल्कुल गलत है। अपने पापा के साथ एक बेटी कोर्ट में जाती है। ऐसा बिना परमिशन के संभव नहीं है।”

मैं देशद्रोही नहीं हूं।

हनीप्रीत ने दंगे में अपना हाथ होने से इन्कार किया है।


Advertisement

“एक लड़की इतनी फोर्स के बीच अकेले बिना परमिशन कोर्ट कैसे जा सकती है? इसके बाद कहा गया कि मैं गलत हूं। सारे सबूत दुनिया के सामने हैं। मैं कहां दंगे में शामिल थी। मेरे खिलाफ किसी के पास क्या सबूत है? आपने कहीं सुना कि मैंने दंगे के लिए कुछ कहा हो। हमें तो लगा कि सुबह कोर्ट गए, शाम को आ जाएंगे।”

बाबा के साथ संबंध।

बाबा के साथ संबंध में हनीप्रीत दुःखी और क्रुद्ध दिखी।

“मुझे समझ में नहीं आता है कि बाप-बेटी के पवित्र रिश्ते को उछाला जा रहा है। मेरे डर का कारण ही यही था कि हनीप्रीत को क्या प्रेजेंट किया। एक बाप-बेटी के रिश्ते को ऐसे तार-तार कर दिया। क्या एक बाप अपनी बेटी के सिर के उपर हाथ नहीं रख सकता है? क्या एक बेटी अपने बाप से प्यार नहीं कर सकती?”

आजतक से बातचीत करते हुए हनीप्रीत का विडियो।

हनीप्रीत का पूरा नाम प्रियंका तनेजा है। हनीप्रीत नाम उसे बाबा गुरमीत राम रहीम ने दिया हुआ है। रेप के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद बाबा के साथ हनीप्रीत पुलिस के हेलिकॉप्टर से रोहतक से सुनारियां जेल पहुंची थी। उसने बाबा के साथ अंदर जाने की जिद की थी, लेकिन पुलिस ने उसे वहां से बाहर भेज दिया था। इस घटना के बाद से हनीप्रीत गायब थी।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement