पैरों में दर्द या ऐंठन है तो अपनाइए ये घरेलू उपचार, कुछ ही मिनटों में दिखने लगेगा असर

Updated on 24 Aug, 2018 at 2:03 pm

Advertisement

आजकल के भागदौड़ भरी जिंदगी में पैरों में ऐंठन और दर्द की समस्या होना आम बात है। सामान्यत: पैरों में होने वाला दर्द कुछ ही समय में ठीक भी हो जाता है, लेकिन कुछ देर का ये दर्द कई बार असहनीय होता है, जिसमें पैरों की पिंडलियों, घुटनों और मांसपेशियों में दर्द या जकड़न महसूस होती है। पैरों या घुटनों में दर्द, सूजन, जकड़न या फिर ऐंठन के कारण व्यक्ति को चलने फिरने में दिक्कत आती है। शरीर में पोषक तत्वों की कमी, मांसपेशियों में थकान, डिहाइड्रेशन और घुटनों एवं पैरों में ब्लड सर्कुलेशन की कमी आदि कई कारणों से पैरों में दर्द हो सकता है। ऐसे में दवाइयों की जगह कुछ घरेलू नुस्खों को अपनाना आपके लिए ज्यादा फायदेमंद होगा।

पैरों में दर्द के लिए  सेंधा नमक

पैरों में दर्द के लिए सेंधा नमक एक असरदार नुस्खा है। अगर आप पैरों में दर्द या ऐंठन महसूस कर रहे हैं तो एक टब में गर्म पानी डालकर उसमें 2 चम्मच सेंधा नमक मिला लें। इसके बाद करीब 10-15 मिनटों तक पैरों को पानी में रखें। कुछ ही देर में आपको पैरों के दर्द में काफी आराम मिलेगा।

 

लौंग का तेल

लौंग का तेल आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर होता है। सदियों से इसका इस्तेमाल खाने के इलावा औषधि के रूप में भी किया जाता रहा है। पैरों और जोड़ों  के दर्द के लिए लौंग का तेल काफी अदभुत माना जाता है। एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल गुणों से भरपूर इस तेल से पैरों की मालिश करनी चाहिए, इससे पैरों में रक्तप्रवाह बढ़ने लगता है।

 

सरसों के बीज

पैरों के दर्द के लिए सरसों के बीज भी काफी कारगर उपाय है। पैरों  में दर्द और सूजन दूर करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसके लिए आपको सरसों के बीज पीसकर पानी में डालने होंगे, इसके बाद पैरों को पानी में 10-15 मिनट के लिए डुबोकर रखें।

 

हल्दी


Advertisement

हल्दी एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो शरीर में होने वाले किसी भी प्रकार के दर्द में सहायक होती है। इसमें मौजूद कर्कुमिन हर प्रकार के दर्द को दूर करने में मदद करता है। हल्दी का पेस्ट बनाकर उसे पैरों पर लगाएं, सप्ताह में ऐसा 2 से तीन बार करने से आपको पैरों के दर्द में काफी आराम मिलेगा।

 

गर्म और ठंडा पानी

गर्म और ठंडे पानी से पैरों में होने वाली एेंठन और दर्द में काफी आराम मिलता है। अपने पैरों को करीब 2 से तीन मिनटों के लिए गर्म पानी में रखें इसके बाद कुछ सेकेंड्स के लिए पैर ठंडे पानी में डाल लें। ऐसा दो से तीन बार दोहराएं। गर्म पानी पैरों में रक्त का प्रवाह बढ़ाता है, जबकि ठंडा पानी सूजन को कम करने में मदद करता है।

 

केला

केला एक ऐसा फल है जो पोटैशियम का खजाना है। एक सामान्य व्यक्ति जो हर रोज केला खाता है उसका एनर्जी लेवल दूसरों से ज्यादा होता है। हर रोज केला खाने से शरीर में कैल्शियम और पोटैशियम की कमी पूरी होती है, जिससे जोड़ों में होने वाले दर्द की समस्या से काफी आराम मिलता है।

 

 

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement