हिटलर इतना भी बुरा नहीं था, उसने कुछ अच्छे काम भी किए थे

Updated on 13 Jul, 2018 at 11:36 am

Advertisement

एडॉल्फ हिटलर और नाज़ी जर्मनी का नाम लेते ही एक क्रूर और इतिहास के अमानवीय समय की याद आती है, लेकिन जैसे हर बुराई के साथ कुछ अच्छाई जुड़ी होती है, कुछ ऐसा ही नाजी शासन के साथ भी था। हिटलर बहुत क्रूर था, लेकिन उसने मानवता की भलाई के लिए कुछ अच्छे काम किए थे।

 

1. जानवरों की सुरक्षा के लिए कानून

 

नाज़ीवाद जिसे फासीवाद के नाम से भी जाना जाता है को इतिहास के सबसे क्रूर समय के रूप में याद किया जाता है, लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी की लोगों के प्रति अमानवीय व्यवहार करने वाले नाज़ियों के मन में जानवरों के प्रति बहुत दया थी। कहा जाता है कि नाजी शासन के वरिष्ठ अधिकारी और हिटलर भी जानवरों के प्रति बहुत दयालु था और उनसे जानवरों पर किए जाने वाले प्रयोग बंद करवा दिए थे। इतना ही नहीं जानवरों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कई कानून बनाए गएं और यदि कोई इसका उल्लंघन करता हुआ पाया जाता था तो उसे गिरफ्तार कर लिया जाता था। अजीब विडंबना है कि जानवरों के प्रति इतना दयाभाव रखने वाले नाज़ियों ने ही इतिहास के सबसे बड़े नरसंहार किए।

 

क्रूर हिटलर और नाज़ियों के अच्छे काम (Hitler good things of humanity)

 

2. तंबाकू विरोधी आंदोलन

 

बाकी देशों द्वारा तंबाकू विरोधी अभियान चलाए जाने से सालों पहले नाज़ियों ने तंबाकू विरोधी आंदोलन चलाया था। नाज़ी सरकार ने कई प्रयोग और अध्ययनों पर पैसे खर्च किए। वे इस नतीजे पर पहुंचे कि तंबाकू का इंसानों पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है और फेफड़ों के कैंसर के बढ़ते मामलों के लिए यही जिम्मेदार है। यहां तक कि हिटलर ने भी सिगरेट छोड़ दी थी। सिनेमा हॉल और स्कूलों में भी सिगरेट पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। हालांकि, उस दौरान तंबाकू पर पूरी तरह से प्रतिबंध नहीं लगा था जैसा कि आज कई देशों में है। इसकी वजह यह थी कि तंबाकू से नाजी सरकार को अच्छी आमदनी होती थी।

 

क्रूर हिटलर और नाज़ियों के अच्छे काम (Hitler good things of humanity)

 

3. सड़क परिवहन में क्रांति

 


Advertisement

हिटलर के शासन काल में ही जर्मनी में सड़कों का जाल बनाने की महत्वकांक्षी परियोजना शुरू हुई थी। इसकी देखादेखी बाकी देशों को भी प्रेरणा मिली और लोगों की यात्रा का तरीका ही बदल गया। यह एक क्रांतिकारी प्रणाली थी और आज दशकों बाद भी जर्मनी के पास तीसरी सबसे घनिष्ठ ऑटोबहन प्रणाली है, पहले और दूसरे नंबर पर अमेरिका और चीन है। इस प्रोजक्ट से करीब 1 लाख 30 हजार लोगों को रोज़गार भी मिला था।

 

क्रूर हिटलर और नाज़ियों के अच्छे काम (Hitler good things of humanity)

 

4. गरीबों के लिए कल्याण कार्यक्रम

 

सितंबर 1933 में हिटलर के जर्मनी का वाइस चांसलर बनते ही उसकी पार्टी ने बड़े पैमाने पर सामाजिक कल्याण कार्यक्रम शुरू किया, जिसे ‘विंटर हेल्प वर्क’ के नाम से जाना जाता है। इस कार्यक्रम के तहत पार्टी लोगों से सालाना फंड जुटाती थी और उससे ठंड के समय में गरीब लोगों की मदद करती थी। फंड जुटाने के लिए नाजी पार्टी के कार्यकर्ता लोगों के दरवाजे पर जाते थे और उन्हें दान देने के तरीके समझाते थे। हालांकि, इस फंड का कहीं कोई लेखा जोखा नहीं था, मगर माना जाता है है कि फंड की अधिकांश रकम यहूदियों, कैथलिक और समलैगिंको के यहां की गई लूटपाट की थी।

 

क्रूर हिटलर और नाज़ियों के अच्छे काम (Hitler good things of humanity)

 

5. अंतरिक्ष यात्रा की राह दिखाना

 

वर्नर वॉन ब्राउन नाज़ी रॉकेट साइंटिस्ट था, जिसने द्वितीय विश्व युद्ध में जर्मनी की तरफ से महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वी-2 रॉकेट को बनाने में भी उनका अहम योगदान था। यह रॉकेट पहली लंबी दूरी की निर्देशित बैलेस्टिक मिसाइल थी, जिसे दुश्मन देशों के शहरों पर हमले के लिए इस्तेमाल किया जा सकता था। विश्व युद्ख खत्म होते ही ब्राउन 1600 अन्य लोगों के साथ अमेरिका चले गए और वहीं एक रॉकेट बनाया जिसकी मदद से जर्मनी ने अपना पहला स्पेस सैटेलाइट एक्सप्लोरल लॉन्च किया। इसके बाद वो नासा से जुड़ गए और सैटरन वी बूस्टर रॉकेट बनाया, जिसकी बदलौत अंतरिक्ष पर जाना संभव हुआ।

 

क्रूर हिटलर और नाज़ियों के अच्छे काम (Hitler good things of humanity)

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement