जानिए बजट के पहले ब्रीफकेस के साथ वित्त मंत्री क्यों खिंचवाते हैं फोटो

author image
Updated on 30 Jan, 2017 at 9:41 pm

Advertisement

क्या कभी आपने सोचा है कि हर साल संसद में बजट पेश करने से पहले देश के वित्त मंत्री ब्रीफकेस के साथ फोटो क्यों खिंचवाते हैं? इसका जवाब ‘बजट’ शब्द में ही है। बजट शब्द फ्रेंच के शब्द ‘bougette’ से आया है, जिसका मतलब होता है चमड़े का बैग।

इस खास बैग की कहानी 18वीं सदी से जुड़ी है। अपने लंबे भाषणों के लिए प्रख्यात उस वक्त के ब्रिटेन के बजट चीफ विलियम ई. ग्लैडस्टोन को बजट पेश करने के लिए कहा गया था। जब उन्होंने साल 1860 में पहली बार बजट पेश किया, तो उन्होंने लाल रंग के ब्रीफकेस का इस्तेमाल किया, जिस पर ब्रिटेन की महारानी का मोनोग्राम सोने से छपा हुआ था। इस बजट को प्रस्तुत करने से पहले उन्होंने मीडिया से रूबरू होकर तस्वीरें खिचंवाई थी।

विलियम ई. ग्लैडस्टोन newstalk.

इसके बाद 1860 के बाद से ब्रिटेन में जो कोई भी बजट प्रमुख रहे वे सभी लाल रंग के ‘ग्लैडस्टोन’ बैग को अपने बजट भाषण में इस्तेमाल करने लगे। यह ‘ग्लैडस्टोन’ बैग एक ट्रेंड बन गया। हालांकि, कई दशकों से इसी बैग को उपयोग में लाने से बैग खराब हो गया था, इस कारण 2010 में इस बैग को आधिकारिक रूप से रिटायर कर दिया गया।


Advertisement

अब ब्रिटेन में चांसलर ऑफ एक्सचेकर अपना छोटा सा सूटकेस लेकर बजट भाषण के पहले 11 डाउनिंग स्ट्रीट के बाहर फोटोग्राफरों के सामने तस्वीर खिंचवाते हैं। इसी तर्ज पर भारत के वित्त मंत्री भी बजट पेश करने से पहले संसद के बाहर खड़े होकर अपने ब्रीफकेस के साथ फोटो खिंचवाते हैं।

भले ही ब्रीफकेस का रंग हर बार एक जैसा न हो, लेकिन तस्वीर खिंचवाने का यह ट्रेंड ब्रिटेन की ही देन है। भारत की ओर से ब्रीफकेस परंपरा की शुरुआत देश के पहले वित्त मंत्री आर.के. षणमुगम चेटी से हुई।

budget

देश के पहले वित्त मंत्री आरके षणमुगम intoday

26 नवंबर 1947 को बजट पेश करने जाते समय उनके हाथ में बैग था। बस तब से यह चलन भारत में है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement