केरल की हिन्दू लड़की को जबरन कबूल करवाया गया इस्लाम, अपर्णा से बना दिया शहाना!

author image
Updated on 21 Jul, 2016 at 12:16 pm

Advertisement

केरल में एक महिला ने दावा किया है कि उनकी बेटी को इस्लाम में धर्मान्तरण के लिए जबरन बाध्य किया गया है। इस महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि इस्लाम में धर्मान्तरण के बाद उनकी बेटी अपर्णा का नाम बदल कर शहाना कर दिया गया है।

तिरुवनन्तपुर के पंगोडे में रहने वाली मिनी विजयन ने पुलिस में दर्ज अपनी शिकायत में कहा हैः

“जब हमें इस बात का पता चला तो हमने पुलिस को संपर्क किया। पुलिस ने पताया लगाया कि वह कोझिकोड में है।”

शिकायत में विजयन ने कहा है कि उनकी बेटी अपर्णा को जबरन इस्लाम धर्म अपनाने को मजबूर किया गया है। उन्होंने कहा है कि अपर्णा जुअल एजुकेशन ट्रस्ट की छात्रा थी। वर्ष 2013 से के अगस्त महीने से वह हॉस्टल में रह रही थी।


Advertisement

इस मामले के सामने आने के बाद पुलिस ने उसे हाईकोर्ट में पेश किया, लेकिन अपर्णा ने अपनी मां के साथ जाने के बजाय अपने साथ आई महिला सुमाया के साथ जाना पसन्द किया।

मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि अपर्णा लापता है, लेकिन इस रिपोर्ट में कहा गया है कि अपर्णा अभी मल्लापुरम के मंजेरी स्थित इस्लाम धार्मिक केन्द्र में है।

विजयन का दावा है कि अपर्णा उनके साथ सम्पर्क में थी, लेकिन निमिषा का मामला मीडिया में आने के बाद उसने संपर्क तोड़ लिया है।

इस बीच, केरल से हाल ही में लापता हुए 20 लोगों में शामिल हिन्दू लड़की निमिषा उर्फ फातिमा की मां ने दावा किया है कि उनकी बेटी को जबरन इस्लाम कबूल करवाया गया।

निमिषा अपने इजा उर्फ बेक्सन विन्सेन्ट के साथ

यह संदेह जताया जा रहा है कि केरल से गायब हो चुके लोग आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट से जुड़ गए हैं।

संदेह है कि 25-वर्षीया निमिषा अपने इजा उर्फ बेक्सन विन्सेन्ट के साथ धर्मान्तरण के बाद वर्ष 2015 के 11 नवंबर को शादी कर ली।

निमिषा की मां बिन्दू

निमिषा की मां बिन्दू ने कहा है कि अंतिम बार उसने 3 जून को व्हाट्सएप पर संदेश भेजा था। उसके बाद से वह लापता हो गई है।

पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement