इन शब्दों को शेष भारत इस तरह बोलता है, जबकि बांग्ला भाषा में इन्हें बोलने का तरीका सबसे प्यारा है

Updated on 28 Jun, 2018 at 5:00 pm

Advertisement

बांग्ला भाषा को एक खूबसूरत भाषा का दर्जा प्राप्त है। हमारे भारतवर्ष में बंगाल कई चीजों के लिए काफी प्रसिद्ध हैं। साहित्य से लेकर कला संस्कृति तक और खान-पान से लेकर जुनूनी बहस तक, बंगाल का कोई जवाब नहीं है। लंबे समय से कहा जाता है कि बंगाल जो आज सोचता है, वह पूरा देश कल सोचेगा और करेगा। जहां तक बात बांग्ला भाषा की है तो यह बेहद समृद्ध है। यह भाषा आपको विशेष लगेगी। इसका उच्चारण कुछ अलग तरह से किया जाता है। बांग्ला भाषा में “व” का उच्चारण प्राय: “ब” की तरह किया जाता है और आत्मा, लक्ष्मी, महाशय आदि शब्द आत्तां, लक्खी, मोशाय जैसे उच्चारण किए जाते हैं। आज हम आपके पास कुछ ऐसे शब्दों का संकलन लेकर आए हैं जिन्हें शेष भारत कुछ अलग तरह से बोलता है, जबकि बंगालियों के बोलने के तरीका बेहद अलग है। इन नामों को देख लीजिए!

 

इन शब्दों को शेष भारत कुछ अलग तरह बोलता है, जबकि बांग्ला भाषा में इन्हें दूसरे तरीके से बोला जाता है। हालांकि, यह तरीका आपको प्यारा लगेगा।

 

1. सचिन

 

बंगाली भाषा (Bengali Language)

 

2. वरुण

 

बंगाली भाषा (Bengali Language)

 

3. अर्जुन

 

बंगाली भाषा (Bengali Language)

 

4. अमिताभ

 

बंगाली भाषा (Bengali Language)

 

5. विराट

 


Advertisement

बंगाली भाषा (Bengali Language)

 

6. संजय

 

बंगाली भाषा (Bengali Language)

 

7. ऐश्वर्या

 

बंगाली भाषा (Bengali Language)

 

8. विद्युत

 

बंगाली भाषा (Bengali Language)

 

9. पीयूष

 

बंगाली भाषा (Bengali Language)

 

10. वीर

 

बंगाली भाषा (Bengali Language)

अब तक आप समझ ही गए होंगे कि बांग्ला भाषा में ये शब्द बेहद अलग तरह से बोले जाते हैं। इसलिए जब कोई बांग्लाभाषी व्यक्ति इन शब्दों को बोले तो पहले ठीक से सुनिए, फिर समझिए। अगर आप ठीक से नहीं सुनेंगे तो समझेंगे भी नहीं। इस तरह हड़बड़ी में गड़बड़ी की आशंका अधिक रहती है। खैर, क्या आपने किसी बांग्ला भाषा भाषी व्यक्ति को बोलते सुना है? कमेन्ट के माध्यम से अपनी प्रतिक्रिया से हमें जरूर रूबरू कराइए।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement