एक हाथ से हाइवे का निर्माण कर रहा यह मजदूर, अपने साथी मजदूरों के लिए है प्रेरणा

author image
Updated on 22 May, 2017 at 2:43 pm

Advertisement

जो लोग अपनी तकलीफों का रोना रोकर बैठ जाते हैं, सब कुछ भगवान भरोसे छोड़ देते हैं, उन्हें इस एक मजदूर से बहुत कुछ सीखने की जरूरत है।

दिनेश कुमार, दिल्ली से मेरठ के बीच बन रहे हाइवे पर काम कर रहे हैं। मयूर विहार के एनएच-24 क्रॉसिंग पर मजदूरी का काम कर रहे दिनेश आम होकर भी खास हैं। दिल्ली के 40 डिग्री से ऊपर के तापमान में काम कर रहे दिनेश जिस चुनौती का सामना करते हुए काम कर रहे हैं, शायद उस परिस्थिति में काम करना हर किसी के बस की बात नहीं है।

6 साल की उम्र में दिनेश को अपना एक हाथ गंवाना पड़ा। करंट लगने की वजह से उनका एक हाथ बुरी तरह से झुलस गया था, जिसके कारण उनका पूरा हाथ काटना पड़ा था।


Advertisement

दिनेश को सरकार की ओर से बस पास की सुविधा मिली हुई है। 6 बच्चों के पिता दिनेश पर अपने परिवार के लालन-पोषण की जिम्मेदारी है।दिनेश कहते हैं कि “पहले बहुत दिक्कत होती थी, रोना आ जाता था, क्या करूं पांच बेटियां हैं।”

दिनेश पूरी मेहनत और लगन के साथ अपना कार्य करते हैं। वह अपने अन्य साथी मजदूरों के लिए उर्जा का स्रोत है। जब दिल्ली की चिलचिलाती धुप में अन्य मजदूर थका महसूस करते हैं, तो दिनेश उनके लिए वो प्रेरणा हैं जो विषम परिस्थितियों का सामना करते हुए भी अपने काम पर लगा रहते हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement