कोलकाता की इन 100 साल से पुरानी इमारतों को देखकर आपको लगेगा यहां वक्त थम गया है

author image
Updated on 14 Aug, 2017 at 8:32 pm

Advertisement

कोलकाता। इस शहर में जैसे समय का पहिया थम गया है। कोलकाता शहर के आसपास के इलाकों में गगनचुंबी इमारतें खड़ी कर ली गई हैं, लेकिन मुख्य शहर में जाते ही अब भी इस बात की अनुभूति होती है कि हम साठ या सत्तर के दशकों में खड़े हैं। अंग्रेजों के दौर में बनी पुरानी इमारतें अब भी शहर का शान बढ़ा रही हैं। हालांकि, संरक्षण के लिहाज से अगर देखें तो आपको निराशा ही हाथ लगेगी। ऐतिहासिक धरोहर का दर्जा प्राप्त इमारतों के अलावा अन्य इमारतें लगभग ध्वस्त होने को बाट जोह रही हैं।

उत्तर और मध्य कोलकाता का इलाका जिसे अंग्रेजों ने करीब चार सौ साल पहले अपने हिसाब से विकसित किया था, की अधिकतर इमारतें जर्जर हैं। इन इमारतों की आयु सौ से दो सौ वर्ष के करीब है। इन इमारतों में कई कहानियां बनीं। इन्होंने न केवल अंग्रेजों की हुकुमत देखी है, बल्कि आजादी के बाद के हुक्मरानों का दौर भी देखा है।

कोलकाता शहर में रहने वाले 3 दोस्तों ने कोलकाता की पुरानी इमारतों पर एक फोटोग्राफी प्रोजेक्ट शुरू किया है। मनीष गोल्डर, सिद्धार्थ हाज़रा और शायन दत्त ने इन्सटाग्राम पर शुरू किए गए इस प्रोजेक्ट को नाम दिया है- Calcutta Houses का।

इन तस्वीरों में इतिहास छुपा हुआ है।


Advertisement

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement