श्‍मशान घाट में एक हेड कॉन्स्टेबल ने खुद को लगाई फांसी, वजह कर देगी हैरान

author image
Updated on 5 Mar, 2017 at 4:48 pm

Advertisement

मेरठ से जो यह एक खबर आई है वो पुलिस विभाग पर ही सवालियां निशान खड़ा करती है।  मुजफ्फरनगर के एक एसडीएम की कोर्ट में तैनात एक हेड कॉन्स्टेबल के आत्महत्या कर लेने की खबर है। हेड कांस्टेबल विजेंद्र सिंह का शव गांव के श्मशान घाट में पेड़ से लटका मिला।

विजेंद्र का शव गांववालों को काजीपुर गांव स्थित शमशान में पेड़ से लटका दिखा। ग्रामीणों ने इसकी सुचना तुरंत थाना खरखौदा पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में ले लिया।

suiclde

 

पुलिस को मृतक हेड कॉन्स्टेबल के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है। इस सुसाइड नोट में जो लिखा है उसने सबको चौका दिया है। सुसाइड नोट में हेड कॉन्स्टेबल ने आत्महत्या करने की वजह बताते हुए लिखा है-



“मुजफ्फरनगर एसडीएम रामावतार की कोर्ट से एक अपराधी की फाइल गायब हो गई थी। इसका इल्जाम मेरे ऊपर लगाया जा रहा है और इसके लिए दबाव भी डाला जा रहा है। इसी दबाव के चलते आत्महत्या कर रहा हूं।”

कॉन्स्टेबल विजेंद्र की मौत की खबर मिलने के बाद से ही उनके परिवार में कोहराम मचा हुआ है। परिवार ने आरोप लगाते हुए कहा है कि एसडीएम सदर की कोर्ट से नौशाद नाम के एक शख्स के केस की फाइल गुम हो गई थी। इस शख्स पर आईपीसी की धारा 151 के तहत केस दर्ज था। फाइल को गायब करने का आरोप विजेंद्र सिंह पर लगाया जा रहा था। इस पूरी घटना से विजेंद्र सिंह तनाव में थे।

परिजनों के मुताबिक, बुधवार की रात करीबन 8 बजे विजेंद्र सिंह मुजफ्फरनगर सदर कोर्ट से वापस घर आए। थोड़ी देर घर रूकने के बाद वह बाहर टहलने के लिए चले गए। जब बहुत देर तक वह नहीं आए तो परिवार ने उन्हें ढूंढना शुरू किया। रातभर तलाशने के बाद भी कुछ पता नहीं चला।

फ़िलहाल पुलिस ने पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement