अब हावर्ड विश्वविद्यालय में होगी महाभारत और रामायण की पढ़ाई

Updated on 19 Aug, 2017 at 12:33 pm

Advertisement

हमारे देश में लोगों की अपने ही धर्मग्रंथ में भले ही दिलचस्पी न रही हो, लेकिन हमारी संस्कृति विदेशों में लोकप्रिय हो रही है। अब खबर है कि हार्वर्ड विश्वविद्यालय में जल्‍द ही ‘रामायण और महाभारत’ पढ़ाई जाएगी। माना जाता है कि हमारे देश में खासकर युवा इन हिन्दू धर्मग्रन्थों में रुचि नहीं लेते, लेकिन देश के लिए इससे ज़्यादा गर्व की बात और क्या हो सकती है कि हमारी सदियों पुरानी संस्कृति और धर्मग्रंथ में विदेशी विश्वविद्यालय भी रूचि ले रहे हैं।

यह खबर आपको भले चौंकाएगी, लेकिन यह सच है। हार्वर्ड विश्वविद्यावलय में जिस कोर्स के तहत रामायण और महाभारत पढ़ाए जाएंगे, उसका नाम “इन्डियन रिलिजन्स थ्रु दीयर नैरेटिव लिटरेचर्स” है। खबर है कि यह विश्वविद्यालय इस सत्र से ही रामायण और महाभारत की पढ़ाई शुरू करेगा।

इस कोर्स को साउथ एशियन रिलीजंस की प्रोफेसर एने ई मोनियस पढ़ाएंगी।


Advertisement

प्रोफेसर मोनियस के अनुसार कि इस कोर्स के माध्‍यम से छात्रों को भारतीय धर्म के बारे में विस्तार से पढ़ाया जाएगा। इस कोर्स के तहत डांस परफामेंस, शेडो पपेट प्‍ले, मॉडर्न फिक्‍शनल रीटेलिंग भी कराया जाएगा। एक बार कोर्स खत्‍म होने के बाद छात्र इन महाकाव्‍यों के टेक्‍स्‍ट को पूरी तरह समझ चुके होंगे। इसके जरिए छात्रों को हिंदू संस्‍कृति के हर पक्ष को समझाया जाएगा।

उम्मीद है हार्वर्ड विश्वविद्यालय में पढ़ाए जाने के बाद हमारे देश के लोगों की भी इनमें रुचि जागृत होगी, क्योंकि वैसे भी हमें तो पश्चिम को फॉलो करने की आदत हो चुकी है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement