चैंपियंस ट्रॉफी के ‘बाहुबली’ बनकर उभरे हार्दिक पांड्या, धुआंधार बल्लेबाजी से बनाए कई रिकार्ड्स

author image
Updated on 21 Jun, 2017 at 6:14 pm

Advertisement

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में भले ही भारतीय टीम जीत हासिल न कर पाई हो, लेकिन टीम के एक खिलाड़ी ने अपने बेहतरीन खेल से सबको प्रभावित किया है।

यह खिलाड़ी वो है जिसने फाइनल मुकाबले में बिखर रही भारतीय टीम को जीत दिलाने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया। यहां हम बात कर रहे हैं हार्दिक पांड्या की, जिन्होंने फाइनल मुकाबले में महज 43 गेंदों में 76 रन जड़े। दुर्भाग्यवश वह टीम को जीत की दहलीज तक नहीं ले जा सके, वह सिंगल लेने के चक्कर में रनआउट हो गए।

लेकिन भारतीय टीम के इस युवा खिलाड़ी ने अपनी तूफानी बल्लेबाजी से सबका दिल जीत लिया। उन्होंने अपनी इस पारी के साथ ही कई रिकार्ड्स अपने नाम किए।


Advertisement

हार्दिक पांड्या ने किसी भी आईसीसी इवेंट के फाइनल मैच में सबसे तेज अर्धशतक बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया। उन्होंने 32 गेंदों में 4 छक्के और 3 चौकों की मदद से अर्धशतक जड़ा।

पहले ये रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के एडम गिलक्रिस्ट के नाम था, जिन्होंने साल 1999 में वनडे वर्ल्ड कप फाइनल में 33 गेंदों में अर्धशतक लगाया था।



वहीं, इस चैंपियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट में हार्दिक पांड्या के बल्ले से छक्कों की बौछार भी हुई। हार्दिक ने 4 मैचों में 10 छक्के जड़े। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 194.44 का रहा। टूर्नामेंट का 107 मीटर का सबसे लंबा छक्का भी उन्ही के बल्ले से निकला।

hardik

टीम इंडिया के इस युवा खिलाड़ी ने अपने प्रदर्शन से सबका ध्यान अपनी ओर खींचा है। उन्होंने कई मौकों पर अपना ऑलराउंडर प्रदर्शन भी दिखाया है। टीम इंडिया को हार्दिक पांड्या के रूप में एक अच्छा तेज गेंदबाज ऑलराउंडर मिला है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement