इस लड़के ने बेख़ौफ़ होकर भेजा एक लड़की को रेप की धमकी से भरा घिनौना मैसेज

author image
Updated on 13 Oct, 2017 at 1:00 pm

ये देखकर दुःख होता है कि कुछ मर्द महिलाओं को अपनी मां, बहन, दोस्त की नजर से देखने के बजाय उन्हें अपनी जागीर समझते हैं। देश में महिलाएं सुरक्षित नहीं है और यह बात किसी से छुपी नहीं है। आए दिन महिलाओं के साथ जघन्य अपराध की घटनाएं दिल को झकझोर के रख देती हैं। मानसिक और शारीरिक तौर पर उनका शोषण किया जा रहा हैं।

यहीं नहीं, कई सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर उन्हें रेप की धमकियां भी दी जाती हैं।

सिर्फ सड़क पर चलते हुए या घर से बाहर निकलते हुए लड़कियों को परेशानी नहीं होती, बल्कि आजकल उन्हें सोशल मीडिया पर स्टॉकिंग और हैरेसमेंट से भी दो चार होना पड़ता है। गालियां देना, अश्लील मैसेज या फोटो भेजना इस तरह की हरकतों से हैरेस किया जाता है।

ऐसी ही एक घटना सामने आई है जहां एक लड़की को इस तरह की भद्दी धमकी दी गई है। दरअसल, अग्नीश्वर चक्रबर्ती नाम के इस लड़के ने फेसबुक पर एक लड़की को स्टॉक किया और उसकी एक तस्वीर पर स्माइली पोस्ट की। वह लड़की, लड़के को नहीं जानती थी। लिहाजा उसने लड़के के कमेंट को डिलीट कर दिया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस पर लड़का गुस्से से आग बबूला हो गया।

अमूमन जब किसी लड़की को बिल्कुल ही अनजान लड़के से तस्वीर पर कोई कमेंट मिलता है, तो वह एक सेकेंड के लिए जरूर सोचती है कि वह कमेंट को डिलीट करे या न करे। यह किसी भी लड़की के लिए सामान्य है, लेकिन कुछ पुरुषों को यह बात समझ में नहीं आती।

लड़के के कमेंट पर लड़की ने जो एक्शन लिया, वह लड़के के दुर्व्यवहार का कारण बन गया। वह अपने गुस्से में अपनी सीमाएं नांग गया। उसने लड़की को रेप की धमकी से भरा घिनौना मेसेज किया।

लड़के द्वारा दी गई इस धमकी में अभद्र भाषा का इस्तेमाल हुआ है। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। लेकिन ऐसे लोगों की घिनौनी हरकत को सामने लाना भी जरूरी है। यहां पढ़ें धमकी से भरा मैसेज।

छोटी सी बात से अपना आपा खो चुके इस शख्स का इतनी अभद्र भाषा का इस्तेमाल करना, उसकी आपराधिक मानसिकता को दर्शाता है। ट्विटर पर लोग इस घटना को लेकर आक्रोश में है। लोगों ने पुलिस को इस मामले में हस्तक्षेप करने को कहा है।

 

 

 

 

यही नहीं, लड़के को सख्त से सख्त सजा दी जाए, उसको लेकर एक ऑनलाइन पिटीशन भी शुरू किया गया है, ताकि महिलाओं को इस तरह से मैसेज कर धमकाने वालों के सामने एक उदहारण पेश हो। इस पिटीशन पर अब तक 40,000 से अधिक लोग हस्ताक्षर कर चुके हैं।

आपके विचार