गुरु पुर्णिमा को नासा ने कुछ इस तरह खास बना दिया

author image
Updated on 10 Jul, 2017 at 5:53 pm

Advertisement

आज पूरे देश में गुरु पुर्णिमा का उत्सव पूरे धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। गुरु पुर्णिमा हिन्दू धर्म के प्रमुख त्यौहारों में से एक है। इस अवसर को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेन्सी नासा ने और भी खास बना दिया है।

नासा ने एक ट्वीट किया है, जिसमें इस बात का जिक्र है कि पुर्णिमा के इस दिन दुनिया भर में किस-रिल नाम ले बुलाया जाता है। आषाढ़ मास की पूर्णिमा पर गुरु पुर्णिमा मनाया जाता है। यह दिन छात्रों के लिए गुरु के धन्यवाद ज्ञापन का होता है।

नासा ने यह ट्वीट किया है।



गुरु पुर्णिमा को लेकर भारतीय जनमानस में कई तरह की मान्यताएं हैं। कहा जाता है कि इसी दिन महाभारत के रचयिता कृष्ण द्वैपायन व्यास का जन्म हुआ था। उन्होंने चारों वेदों को लिपिबद्ध किया था। इस कारण उनका एक नाम वेद व्यास भी है।

इस दिन बौद्ध धर्म के प्रवर्तक गौतम बुद्ध को भी याद किया जाता है।

देशभर में पारंपरिक रूप से शिक्षा देने वाले विद्यालयों में, संगीत और कला के विद्यार्थियों में आज भी यह दिनगुरु को सम्मानित करने का होता है। मन्दिरों में पूजा होती है, पवित्र नदियों में स्नान होते हैं, जगह जगह भंडारे होते हैं और मेले लगते हैं।

इस दिन कुछ लोग अपने गुरु के लिए उपवास भी रखते हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement