Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

गुलबर्ग सोसाइटी केस में भाजपा पार्षद सहित 36 बरी, 24 अन्य दोषी करार

Updated on 11 July, 2016 at 2:54 pm By

गुजरात के बहुचर्चित गुलबर्ग सोसायटी मांमले में आज एक विशेष अदालत ने भारतीय जनता पार्टी के पार्षद सहित 36 लोगों को बेगुनाह बताते हुए बरी कर दिया। वहीं, 24 लोगों को दोषी करार दिया गया है। यह फैसला 14 साल बाद आया है।

वर्ष 2002 में गोधरा कांड के बाद उग्र लोगों की भीड़ ने गुलबर्ग सोसायटी पर हमला कर दिया था। इसमें कांग्रेस पार्टी के पूर्व सांसद अहसान जाफरी सहित 69 लोगों की जानें गईं थीं। इस मामले में कुल 61 लोग आरोपी थे। इन आरोपियों में से नौ लोग जेल के अंदर हैं, जबकि छह फरार हैं। वहीं बाकी जमानत पर जेल के बाहर हैं।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने विशेष अदालत को 31 मई तक फैसला सुनाने का निर्देश दिया था।

बरी किए गए लोगों में भाजपा पार्षद विपिन पटेल सहित, मेघाणीनगर थाना के इंस्पेक्टर रहे एक एर्डा और कांग्रेस पार्षद मेघ सिंह चौधरी के नाम शामिल हैं। कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि किसी साजिश के तहत इस घटनाक्रम को अंजाम नहीं दिया गया।

इस मामले में सजा का ऐलान 6 जून को किया जाएगा।


Advertisement

पूर्व कांग्रेस सांसद अहसान जाफरी सहित इतनी बड़ी संख्या में मौतें होने की वजह से यह मामला हाई-प्रोफाइल बन गया था।



गुलबर्ग सोसायटी पर हुए हमले से पहले अहमदाबाद के पुलिस आयुक्त पीसी पांडे ने सोसायटी पहुंचकर पूर्व सांसद जाफरी से मिले थे। उन्होंने उन्हें और उनके परिजनों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने की बात कही थी, लेकिन सोसायटी के दूसरे लोग भी जाफरी के घर आकर जमा हो गए।

इस वजह से जाफरी ने उन लोगों को छोड़कर जाने से इन्कार कर दिया।

यह जानकारी पूर्व सांसद की पत्नी जाकिया जाफरी ने कोर्ट में अपने बयान में दी थी। हालांकि, जाकिया ने सुप्रीम कोर्ट में दी गई अपनी अर्जी में गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित कई लोगों पर आरोप लगाया था।


Advertisement

वर्ष 2010 में 27 व 28 मार्च को एसआईटी ने मुख्यमंत्री मोदी से लंबी पूछताछ की थी, जिसमें मोदी ने आरोपों को गलत बताया था। मोदी ने कहा था कि 28 फरवरी को एहसान जाफरी ने उन्हें मदद के लिए फोन नहीं किया था।

Advertisement

नई कहानियां

क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए

क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए


G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!

G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!


Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा

Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा


Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी

Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी


जानिए क्या है Google’s Birthday Surprise Spinner, बच्चों से लेकर बड़ों में है इसका क्रेज़

जानिए क्या है Google’s Birthday Surprise Spinner, बच्चों से लेकर बड़ों में है इसका क्रेज़


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर