Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

राजधानी दिल्ली में खड़ी की जा रही है खास दीवार, धूल-आंधी से दिल्लीवालों की करेगी रक्षा

Published on 13 July, 2018 at 10:37 am By

दुनिया भर में प्रदूषण धरती के वातावरण को प्रभावित कर रहा है। भारत जैसे देश में जनसंख्या वृद्धि और लापरवाही ने स्थिति को भयानक बना दिया है। पिछले दिनों जारी रिपोर्ट में सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर भारत के ही बताए गए। हालांकि, राजधानी दिल्ली की स्थिति थोड़ी सुधरती बताई गई। इसके बावजूद प्रदूषण के लिहाज से यह शहर जीवन के लिए बेहद ही खतरनाक है।


Advertisement

 

राजधानी दिल्ली की हालत चिन्ताजनक है।

 

 

पिछले कुछ सालों में सरकार ने इस समस्या को गंभीरता से लिया है। हर साल आस-पास के राज्यों में पराली जलाने और धूल भरी आंधी-तूफ़ान के कारण दिल्ली की आवोहवा खराब होती जाती है। इसे देखते हुए दिल्ली सरकार ने बचाव की नई तरकीब ढूंढ़ निकाली है। ऐसी योजना बनाई जा रही है कि दिल्ली के बाहरी इलाक़ों से धूल और आंधी-तूफ़ान पर रोक लगाई जा सकेगी।

 

 

दरअसल, सरकार दिल्ली को पेड़ों की दीवार से घेरने की तैयारी में है। ये पेड़ दिल्ली की कितनी रक्षा कर पाती है ये बाद की बात है। इस तरह पेड़ों की देवार खड़ी करने में कुछ साल का वक्त लग जाएगा। बता दें कि सरकार ने इस साल की शुरुआत में दिल्ली में लगभग 28 लाख पौधे लगाने की योजना पर काम कर रही थी, जिसे बढ़ाकर 32 लाख कर दिया गया है।


Advertisement

 



 

‘दिल्ली वन विभाग’ द्वारा इस योजना की शुरुआत इसी 7 जुलाई को की गई है। बताया जा रहा है कि इसे साल के अंत तक अंजाम दिया जाएगा। विभाग द्वारा दिल्ली के बाहरी इलाक़ों जैसे जसोला, तुग़लकाबाद, आयानगर, नरेला, सौदा, घेवरा और यमुना क्षेत्र में पौधे लगाए जायेंगे। इनमें अधिक मात्रा में पीपल, नीम, आंवला, जामुन, आम, महुआ, पिलखान और गोलर जैसे पेड़ होंगे।

 

 

विभाग के इस कार्य में दिल्ली विकास प्राधिकरण, केंद्रीय लोक निर्माण विभाग, दिल्ली मेट्रो रेल निगम, सरकारी एजेंसियां और दिल्ली नगर निगम भी अपने संबंधित क्षेत्रों में सहयोग करेंगे।

 

 

डीडीए अब तक लगभग 10 लाख पौधे, जबकि वन विभाग लगभग 4.22 लाख पौधे लगा चुके हैं। पौधों की देखभाल एजेंसियां करेंगी तो ऑडिट साल 2019 में देहरादून स्थित फारेस्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट द्वारा किया जाएगा और 2020 तक रिपोर्ट तैयार की जाएगी।

 


Advertisement

 

यह परियोजना अगर ठीक से पूरी हुई तो राजधानी दिल्ली का मौसम खुशनुमा हो जाएगा। अब आप अंदाजा लगा सकते हैं कि अगले कुछ सालों में दिल्ली भी शिमला की तरह खुशनुमा मौसम वाला हो जाएगा। हालांकि, अभी कुछ कहना गलत होगा क्योंकि ‘दिल्ली अभी दूर है!’

Advertisement

नई कहानियां

सुहागरात से जुड़ी ये बातें बहुत कम लोग ही जानते हैं

सुहागरात से जुड़ी ये बातें बहुत कम लोग ही जानते हैं


नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं

नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं


मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक

मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक


PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!

PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!


अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?

अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर