15000 किलोग्राम सोने से बना है दक्षिण भारत का ये स्वर्ण मंदिर, इसके बारे में पता है आपको ?

11:00 am 10 Aug, 2018

Advertisement

‘गोल्डन टेंपल’ का नाम सुनते ही मन में अमृतसर के स्वर्ण मंदिर की छवि बन जाती है। अपनी भव्यता और खूबसूरती के लिए लोकप्रिय अमृतसर का स्वर्ण मंदिर हमेंशा से आकर्षण का केंद्र रहा है, लेकिन अगर आप सोचते हैं कि भारत में सोने से बना यह इकलौता मंदिर है तो आप गलत हैं। दक्षिण भारत में स्थित एक ऐसा गोल्डन टेंपल है, जिसको देख आपकी आखें कुछ देर के लिए चौंधिया जाएंगी। तमिलनाडु के वेल्लोर में स्थित इस मंदिर को श्रीपुरम अथवा महालक्ष्मी स्वर्ण मन्दिर  के नाम से जाना जाता है।

 

 


Advertisement

सोने से निर्मित इस मंदिर में करीब 15000 किलो शुद्ध सोने का इस्तेमाल किया गया है। कहा जाता है कि इस मंदिर में लगे सोने के बराबर स्वर्ण पूरे विश्व में किसी पूजा स्थल में प्रयोग नहीं हुआ है। सोने से बने इस मंदिर में धन की देवी लक्ष्मी जी की पूजा अर्चना की जाती है।

 

 

वेल्लोर शहर के दक्षिण भाग में बने इस मंदिर को बनाने में 300 करोड़ से ज्यादा की लागत आई थी। मंदिर के अंदर और बाहर दोनों तरफ सोने की लगभग नौ से पंद्रह परतें बनाई गई हैं। श्रीपुरम मंदिर का सरोवार भी काफी प्रसिद्ध है, देश की सभी प्रमुख नदियों का पानी लाकर इस मंदिर में सर्वतीर्थम सरोवर का निर्माण किया गया है।

 

 

लगभग 100 एकड़ में फैले इस मंदिर के चारों ओर आपको हरियाली देखने को मिलेगी। इस मंदिर के अंदर जाते वक्त कुछ बातों का विशेष रूप से ध्यान रखना पड़ता है। श्रीपुरम मंदिर के अंदर आप शॉर्ट पैंट या निक्कर में प्रवेश नहीं कर सकते। इसके अलावा मंदिर के अंदर मोबाइल फोन, कैमरा आदि किसी भी तरह की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस ले जाना सख्त मना है।

 

 

 

दर्शन के लिए मंदिर हर रोज सुबह 8 बजे से रात्रि 8 बजे तक  खुलता है। मंदिर में खासतौर पर लोगों के आकर्षण के लिए कुछ आर्टिफिशियल लाइट्स लगाई गई हैं। रात के समय लाइट्स की रोशनी में मंदिर को जगमगाता देख आप मंदिर की खूबसूरती से मोहित हो उठेंगे। मंदिर की के आसपास 24 घटें सुरक्षाबलों का कड़ा पहरा रहता है।

 

दक्षिण भारत का स्वर्ण मंदिर ( south indian golden temple)

anandtravels


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement