Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

कुषाण वंश ने जारी किया था पहला सोने का सिक्का, इस पर अंकित थी शिव और नंदी की प्रतिमा

Published on 16 September, 2017 at 6:38 pm By

दीपावली पर आप भी सोने के सिक्के तो खरीदते ही होंगे , लेकिन क्या आपको पता है कि सबसे पहले सोने के सिक्के कब बने थे? दरअसल, आज से करीब दो हजार साल से भी पहले भारत में सोने के सिक्कों की शुरुआत हुई थी। दूसरी सदी के उत्तरार्ध में कुषाण वंश के शासनकाल के दौरान सोने के सिक्के जारी किए गए थे, जिन पर भगवान शिव और नंदी की प्रतिमा अंकित थी।

ये सिक्के कुषाण वंश के राजा वासुदेव प्रथम के शासनकाल में जारी किए गए थे।


Advertisement

राजा हुविष्क के बाद वासुदेव कुषाण साम्राज्य का स्वामी बने। माना जाता है कि राजा वासुदेव शिव के अनन्य भक्त थे। यही वजह है कि उनके समय में जारी सिक्कों पर शिव, त्रिशूल और नंदी की प्रतिमाएं अंकित थीं। उस समय के सिक्कों पर यवनों आदि के विदेशी देवताओं के कोई चित्र अंकित नहीं थी। इससे पता चलता है कि राजा वासुदेव ने प्राचीन हिन्दू धर्म को पूर्ण रूप से अपना लिया था। उनका वासुदेव नाम भी इसी बात का प्रमाण है।



राजा वासुदेव प्रथम को कुषाण वंश का अंतिम शक्तिशाली शासक कहा जाता है। ऐसा प्रतीत होता है कि राजा वासुदेव के शासन काल में कुषाण साम्राज्य की शक्ति क्षीण होनी शुरू हो गई थी। इस समय कई ऐसी राजशक्तियों उदय हुआ  जिन्होंने कुषाणों के गौरव का अन्त कर अपनी शक्ति का विकास किया था। राजा हुविष्क के शासन काल में ही दक्षिणापथ में शकों ने एक बार फिर अपना उत्कर्ष किया था।


Advertisement

कुषाण वंश के राजाओं के चीनी राजाओं के साथ अच्छे संबंध रहे थे। उपलब्ध दस्तावेजों के मुताबिक, वासुदेव प्रथम ने तीसरी सदी में चीनी राजा काओ रुई व वेइ को उपहार भेजे थे। चीनी अभिलेखों में वासुदेव प्रथम का उल्लेख है। वह संभवतः अंतिम कुषाण राजा था, जिनके चीन के साथ बेहतर संबंध थे। इस वंश के बाद के राजाओं के चीन के साथ संबंध खास नहीं रहे थे।

Advertisement

नई कहानियां

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा


मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया

मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया


क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए

क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए


G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!

G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!


Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा

Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Culture

नेट पर पॉप्युलर