मीट खाते भगवान के विज्ञापन पर भारत ने जताया विरोध, यूट्यूब ने बंद किया एड

Updated on 12 Sep, 2017 at 6:24 pm

भगवान गणेश को मीट खाते दिखाए जाने वाले विज्ञापन पर बवाल जारी है। अब इस विज्ञापन के विरोध में जहां भारत सरकार ने आधिकारिक तौर पर विरोध दर्ज किया है, वहीं यूट्यूब से इस विज्ञापन को हटा दिया गया है। सबसे पहले इस विज्ञापन पर ऑस्ट्रेलिया में रहने वाले हिन्दू समुदाय ने विरोध जताया था।

YouTube

क्या कहा है भारत सरकार ने?

कैनबरा स्थित भारतीय उच्चायोग ने ऑस्ट्रेलिया के विदेश विभाग, संचार तथा कृषि विभाग को पत्र भेजकर इस मामले में एक्शन लेने की अपील की है। उच्चायोग ने कहा है कि मांस उत्पादक समूह ‘मीट ऐंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया’ का यह विज्ञापन भद्दा और अपमानजनक है। विज्ञापन ने भारतीय समुदाय की धार्मिक भावनाएं आहत की हैं।

YouTube

क्या है इस विज्ञापन में ?

मीट एंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया (एमएलए) द्वारा जारी इस विज्ञापन में खाने की एक मेज पर भगवान गणेश, यीशु, बुद्ध और थॉर मेमने के मांस पर चर्चा करते हुए दिखते हैं। इसमें कहा गया है कि मेमने के मांस को सभी खा सकते हैं।

इस बीच, यूट्यूब ने इस विज्ञापन को अपने प्लेटफॉर्म पर नहीं चलने देने का निर्णय लिया है। इसे बंद कर दिया गया है।

इस विज्ञापन के विरोध में सोशल मीडिया पर भी लोगों ने गुस्सा जताया है।

आपके विचार