राजपथ पर कुछ इस तरह बिखरे देश की कला और संस्कृति के अलग-अलग रंग

author image
Updated on 27 Jan, 2016 at 1:14 pm

Advertisement

67वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर एकता के रथ पर सवार हुए भारत के कई विभिन्न रंग देखने को मिले। इस मौके पर राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड में हर साल की तरह कई राज्यों की झांकियां निकली। इन झांकियों में देश की संस्कृति और कला की अतुल्य छाप दिखाई दी। इस बार की परेड में कुल 23 झांकियां थीं, जो देश की विविधता में एकता को दर्शाती हैं।

गुजरात

गुजरात की झांकी में देश की जैव विविधता को दर्शाया गया।

Gujrat

ओडिशा

ओडिशा की झांकी में ‘बोइता बंदना’ त्योहार की झलक देखने को मिली। यह त्योहार अक्टूबर या नवंबर में मनाया जाता है जिसमें ‘बोइता बंदना’ यानी कि नौकाओं की पूजा की जाती है।

Odisha

उत्तराखंड

इस बार उत्तराखंड की झांकी में रामायण पर आधारित उत्तराखंड के ‘रम्माण महोत्सव’ को दर्शाया गया। UNESCO ने इस त्योहार को विश्व धरोहर घोषित किया है।

Uttarakhand

कर्नाटक

कर्नाटक की झांकी में ‘कॉफ़ी की धरती’ कहे जाने वाले कोडगु को दिखाया गया।

Karnataka

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश की झांकी में जरदोई कला को प्रदर्शित किया गया।

Uttar Pradesh

मध्य प्रदेश

मध्यप्रदेश की झांकी में इस बार वन्य-जीवन विशेषकर ‘व्हाइट टाइगर सफारी’ को दर्शाया गया। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश के रीवा जिले के नजदीक मुकुंदपुर में विश्व की पहली ‘व्हाइट टाइगर सफारी’ तथा ‘जू एंड रेस्क्यू सेंटर’ का निर्माण किया जा रहा है।

Madhya Pradesh

गोवा

गोवा की झांकी में इस बार प्राचीन मुखौटा नृत्य ‘जागोर’ दर्शाया गया। यह नृत्य धर्म एवं जाति की सीमाओं से परे खुशहाली का प्रतीक कहलाता है।

Goa

असम

असम की झांकी में पूर्वोत्तर के लोक महोत्सव ‘रंगोली बिहू’ की झलक देखने को मिली।

Assam

जम्मू व कश्मीर

जम्मू व कश्मीर की झांकी में ‘मेरा गांव मेरा जहां’ का प्रचार किया गया। झांकी में मौजूद कलाकार परंपरागत वेशभूषा में वहां की संस्कृति को जीवंत करते नजर आए।

Jammu and Kashmir

राजस्थान

हवा महल के ज़रिए राजस्थान की वास्तुकला को प्रकाशित किया गया।

Rajasthan

बिहार

बिहार की झांकी में चंपारण सत्याग्रह को दर्शाया गया।


Advertisement

Bihar

तमिलनाडु

तमिलनाडु की झांकी में ‘थोडा जनजाति’ की झलक देखने को मिली।

Tamilnadu

त्रिपुरा

त्रिपुरा की झांकी में ‘उनाकोटि वास्तुकला’ की झलक दिखी। उनाकोटि एक पर्यटक स्थल है, जहां चट्टानों को काटकर व तराशकर अनेक कलाकृतियां बनाई गई हैं।

Tripura

छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ की झांकी में इस बार कला और संगीत को समर्पित इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय को दिखाया गया। यह विश्वविद्यालय न केवल देश, बल्कि विदेशों में भी एक ख़ास पहचान रखता है।

Chhatisgarh

चंडीगढ़

चंडीगढ़ की झांकी को सपनों के शहर के रूप में दर्शाया गया।

Chandigarh

सिक्किम

सिक्किम की झांकी में ‘सागा दावा’ को पेश किया गया। सागा दावा सिक्किम का बुद्ध जयंती उत्सव है।

Sikkim

पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल की झांकी में आध्यात्मिक बाउल संगीत की थाप सुनने को मिली। ऐसा लगा मानो बंगाल की संपूर्ण संस्कृति राजपथ पर उतर आई हो।

West Bengal

नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय

इस झांकी में 2022 तक 175 गीगावॉट क्षमता प्राप्‍त करने की महत्‍वाकांक्षी योजना और इससे जुड़े विभिन्‍न पहलुओं को दर्शाया गया।

Ministry of New and Renewable Energy

भारत निर्वाचन आयोग

भारत निर्वाचन आयोग की झांकी में अशोक स्तंभ के माध्यम से सदाचार और लोगों की चुनावी भागादारी को प्रोत्साहन दिया गया।

Election Commission of India

संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय

यह झांकी ‘डिजिटल इंडिया’ की तर्ज पर निर्मित दिखी, जिसमें इसके बढ़ते प्रयोग और  खूबियों को उजागर किया गया।

पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय

इस झांकी की थीम ‘स्वच्छ भारत मिशन’ पर आधारित रही, जिसमें इस मिशन से जुड़े कार्यों और उपलब्धियों को पेश किया गया।

Ministry of Drinking Water and Sanitation

सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय

इस झांकी को भारत के संविधान रचयिता डॉ. भीमराव अंबेडकर को उनकी 125वीं जयंती पर समर्पित किया गया।

Social Justice and Empowerment

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement