रिटायर हुए जनरल दलबीर सिंह सुहाग, कहा- “भारतीय सेना किसी भी चुनौती से निपटने में है सक्षम”

author image
Updated on 31 Dec, 2016 at 3:24 pm

Advertisement

सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग 31 दिसम्बर को 43 साल की राष्ट्र सेवा के बाद सेवानिवृत हो गए हैं। बतौर सेना प्रमुख आखिरी दिन मीडिया को संबोधित करते हुए दलबीर सुहाग ने साफ साफ शब्दों में कहा कि भारतीय सेना किसी भी बाहरी या आतंरिक चुनौती का सामना करने के लिए पूरी तरह प्रशिक्षित और तैयार है।

साउथ ब्लॉक में थलसेना प्रमुख का विदाई समारोह आयोजित किया गया। जनरल सुहाग ने अमर जवान ज्योति पर जाकर शहीद सैनिकों को श्रद्धासुमन अर्पित की। विदाई समारोह के दौरान थलसेना प्रमुख ​दलबीर सिंह सुहाग ने मीडिया से बात की। मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि भारतीय सेना को 43 वर्षों तक सेवाएं देने के​ लिए वह खुद को गौरवान्वित महसूस करते हैं।

दलबीर सिंह ने देश के जवानों को सलाम करते हुए कहा:

“हमारे सैनिक हर विषम परिस्थिति से बेखौफ होकर देश की सेवा के लिए हमेशा मुस्तैद रहते हैं। बात चाहे दुनिया के ऊंचे रणक्षेत्र सियाचिन ग्लैशियर की हो, बर्फीले पहाड़ोंं की हो, तपते रेगि​स्तान की हो, बॉर्डर्स की हो, घने जंगलों की हो या फिर आतंकवाद के खिलाफ जम्मू—कश्मीर और नॉर्थईस्ट की हो, हमारे सैनिक हर जगह हमेशा सतर्क रहते हैं। 2012 में हमने 67 आतंकी मारे, 2013 में यह आंकड़ा 65 रहा और इस साल सिर्फ जम्मू-कश्मीर में 141 आतंकी मार गिराए।”

दलबीर सिंह ने देश की सेवा करने वाले और इसकी सुरक्षा व अखंडता की खातिर अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों को सलाम किया।


Advertisement

इस दौरान दलबीर सिंह ने सैन्य बलों के लिए वन रैंक वन पेंशन लागू करने के लिए केंद्र सरकार को धन्यवाद दिया। साथ ही सैन्य अभियानों को अंजाम देने के लिए मिली छूट के लिए प्रधानमंत्री और सरकार को शुक्रिया अदा किया।

वहीं, नए सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने 31 दिसम्बर को अपना पद ग्रहण कर लिया है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement