कवर पेज पर घूंघट, बैकफुट पर सरकार

author image
Updated on 28 Jun, 2017 at 6:49 pm

Advertisement

हरियाणा सरकार की एक पत्रिका के कवर पेज पर छपी एक तस्वीर से विवाद खड़ा हो गया है। विवाद इतना बड़ा है कि खुद अंतरराष्ट्रीय पहलवान गीता फोगाट ने पलट जवाब दिया है।

हरियाणा सरकार की कृषि संवाद नाम की पत्रिका में ‘घूंघट’ को ‘राज्य की पहचान’ के तौर पर दर्शाया गया है। पत्रिका में घूंघट वाली महिला की तस्वीर छपी है। तस्वीर में दिख रही महिला अपने सिर पर चारा लेकर जा रही है, जिसके कैप्शन में लिखा है, ”घूंघट की आन-बान, म्हारे हरियाणा की पहचान।”

यह पत्रिका राज्य सरकार की मासिक पत्रिका हरियाणा संवाद की एक परिशिष्ट है। पत्रिका के मुख्य पृष्ठ पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की तस्वीर छपी भी छपी हुई है। अब इस पत्रिका ने एक नए विवाद को तूल दे दिया है। विपक्षी पार्टियों ने बीजेपी को आड़े हाथों लेते हुए इसे सरकार को पिछड़ी सोच करार दिया है।

haryana-women



उधर, इसी राज्य से ताल्लुक रखने वाली गीता फोगाट ने इस पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। गीता फोगाट ने कहा कि वे ऐसे राज्य से ताल्लुक रखती हैं जहां महिलाओं को स्कूल जाने नहीं दिया जाता। जहां लड़कों की पढ़ाई पर ही जोर दिया जाता है। ऐसे में इस तरह के समाज की सोच से परे जाकर, उनके पिता ने उन्हें आगे बढ़ाया और वहां तक पहुंचाया जहां तक जाने सी शायद ही लोग उम्मीद कर सकते थे। उन्होंने कहा कि उनके लिए यह गर्व की बात है कि उन्होंने ऐसे गांव से बाहर निकलकर अपने प्रदेश का नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रौशन किया।

गीता फोगाट ने इस विज्ञापन को उस मानसिकता की उपज बताया है, जिसके कारण लड़कियों को आगे बढ़ने नहीं दिया जाता। उसे चार दीवारी के अन्दर ही रखा जाता है। गीता ने कहा कि आज की महिलाएं परदे या चारदीवारी में रहने वाली नहीं है। आज की लड़कियां अपना हक चाहती हैं और वह न मिले तो उसके लिए लड़ना भी जानती हैं। अब लडकियां अपनी खुद की पहचान बना रही है आगे बढ़ रही हैं। ऐसे में इस तरह के विज्ञापन उन सभी की मेहनत पर पानी फेरते हैं। इस तरह के विज्ञापन नहीं छपने चाहिए, ये विकास की राह में रोड़ा है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement