फिल्मी परदे से उतरकर कराची की सड़कों पर घूम रहा है गब्बर सिंह

12:20 pm 11 Aug, 2018

Advertisement

भारतीय सिनेमा के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित हुई फिल्म ‘शोले’ सालों बाद आज भी लोकप्रिय है। साल 1975 में रमेश सिप्पी के निर्देशन में यह पहली 70एमएम फिल्म लोगों की जुबान पर चढ़ गई थी। इस फिल्म ने दर्शकों के दिलों पर अमर छाप छोड़ने में कामयाब रही है। इसके किरदार व डायलॉग इतने लोकप्रिय हुए कि लोगों को याद हो चुके हैं। इस फिल्म ने सरहद पार भी अपनी छाप छोड़ी है।

 

 


Advertisement

पाकिस्तान में अमर किरदार गब्बर सिंह से मिलता-जुलता शख्स देखा गया है!

 

 

फिल्म में इस किरदार को अमजद खान ने निभाया, जिसकी चर्चा आज भी होती है। उनके बोले संवाद ‘जो डर गया समझो मर गया’, ‘कितने आदमी थे’, ‘ये हाथ मुझे दे दे ठाकुर’, ‘बहुत याराना लगता है’ आदि हमें ज़ुबानी याद हैं। गब्बर से हूबहू शक्ल वाला एक शख्स कराची में स्पॉट किया गया है और सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है।

 

 

गौरतलब है कि फिल्म में गब्बर सिंह को वीरू और ठाकुर ने मिलकर ठुकाई की थी। लेकिन पाकिस्तान में इसे तरोताजा घूमते देखा गया है, जहां वह अपनी पत्नी को शॉपिंग करा रहा है।

 

 



इस शख्स की शक्ल ही नहीं, कपड़े भी गब्बर से मैच खाते हैं। बता दें कि शाहजहां खुर्रम नाम के एक ट्विटर यूजर ने इसकी तस्वीर साझा की। पेशे से पत्रकार खुर्रम ने अपने पोस्ट में ये भी लिखा है कि गब्बर की तरह दिखने वाला शख्स मुस्लिम न होकर हिन्दू है, क्योंकि उसने हाथ पर कलावा बांध रखा है।

 

 

सोशल मीडिया पर तरह-तरह के कमेंट के साथ ये तस्वीर वायरल हो चला है। तेलगू, कन्नड़, हिंदी और अंग्रेजी भाषा की लगभग 100 फिल्मों में काम कर चुके गब्बर सिंह (अमजद खान) 1992 में ही दुनिया को अलविदा कह गए थे।

 

 

एक यूजर ने लिखा है कि भारत का गुनहगार पाकिस्तान में खुल्ला घूम रहा है!

 


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement