आतंकियों के ड्रोन्स नष्ट करेंगे फ्रान्स के चील, अनूठे प्रशिक्षण की कहानी

author image
Updated on 24 Feb, 2017 at 3:51 pm

Advertisement

दुनिया के अलग-अलग देश आतंकवादी हमलों से निपटने के लिए अलग-अलग कवायदों में जुटे हैं। आतंकवादियों के हमलों से निपटने के लिए फ्रान्स जो कुछ करने जा रहा है, उससे आपको हैरत होगी। फ्रान्स में अधिकारी अब आतंकवादियों द्वारा भेजे गए ड्रोन्स को नष्ट करने के लिए चील का सहारा लेंगे। इसके लिए चील पक्षियों को बकायदा प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

फ्रान्स की कंपनी गार्ड फ्रॉम एबव दुनिया की पहली कंपनी बन गई है जो चील पक्षियों को खास प्रशिक्षण देकर उन्हें ड्रोन नष्ट करना सिखा रही है। इससे पहले नीदरलैंड की पुलिस ने चील की मदद से एक ड्रोन को मार गिराने में कामयाबी हासिल की थी।

वर्ष 2015 में फ्रान्स के राष्ट्रपति भवन, तथा मिलिट्री संस्थानों के आसपास ड्रोन्स उड़ते देखे गए थे। हालांकि, इससे किसी तरह का तात्कालिक नुकसान नहीं हुआ। लेकिन देश में एक के बाद एक आतंकी हमलों से सबक लेते हुए फ्रेन्च अधिकारियों ने अब ड्रोन्स से निपटने की ठान ली है।


Advertisement

माना जा रहा है कि भीड़भाड़ वाले इलाकों में ड्रोन्स के जरिए तबाही मचाई जा सकती है। इसलिए अधिकारी इस बात पर मनन कर रहे थे कि किस तरह बिना गोली मारे या हंगामा किए हुए इन ड्रोन्स को काबू में किया जाए। इस काम में ये चील पक्षी बेहद कारगर साबित हो रहे हैं।

फिलहाल अर्थागन, एथोस, पोर्थोस तथा आर्मिस नामक इन चार चील पक्षियों को फ्रेन्च मिलिट्री के द्वारा प्रशिक्षण मिल रहा है। इन्हें ऐसे प्रशिक्षित किया जा रहा है, कि ये ड्रोन को अपने शिकार के रूप में देखें तथा आबादी से दूर ले जाकर नष्ट कर दें।

ये चील पक्षी पिछले साल इस प्रशिक्षण में खरे उतरे थे। इन पक्षियों में से एक ने 20 सेकेन्ड में 200 मीटर की दूरी तय की थी और एक ड्रोन में टक्कर मारते हुए उसे पूरी तरह से नष्ट कर दिया था।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement