मिलिए पहली नगा महिला कॉमर्सियल पायलट से जिन्होंने भारत को गौरवान्वित किया है

Updated on 2 Sep, 2017 at 1:17 pm

Advertisement

सच्ची लगन और कठिन परिश्रम से कुछ भी हासिल किया जा सकता है। इस पंक्ति को सच कर दिखाया है मणिपुर में नगा जनजाति में जन्मीं रौवेइनै पौमई ने। ऑस्ट्रेलिया के बसैर एविएशन कॉलेज से स्नातक रौवेइनै पौमई, जेट एयरवेज में कार्यरत देश की पहली महिला नगा व्यवसायिक पायलट हैं।

सेनापति जिला में पुरुल रोसोफिल के रहने वाले पी डी सेले को अपनी पुत्री की उपलब्धि पर बहुत गर्व है।

मणिपुर और नागालैंड के वासियों को भी रौवेइनै पौमई पर बहुत गर्व है। उन्होंने संदेशों के ज़रिये रौवेइनै पौमई को बधाई दी तथा उनका उत्साह बढाया।

हमारा मान बढ़ाया है। 

एक अन्य नागा महिला का संदेश।

बहुत सारी शुभकामनाएं।

 

तुम पर हमें गर्व है।

वाकई, अब समय बदल रहा है। कई महिलाओं ने चुनौतीपूर्ण और साहसी कार्यों को अपना पेशा बनाया है। हाल ही में कश्मीर की रहने वाली आयशा अज़ीज़ ने महज 21 साल की उम्र में व्यवसायिक पायलट का लाइसेंस हासिल किया है। आँध्रप्रदेश की एन्नी दिव्या, बोइंग-777 उड़ाने वाली दुनिया में सबसे कम उम्र की महिला कमांडर बनीं। उन्होंने स्पेन में इसकी ट्रेनिंग ली और फिर एयर इंडिया के साथ काम किया।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement