फिल्म ‘पद्मावती’ के जिस सीन को लेकर देशभर में मचा है बवाल, वह लीक हो गया

author image
Updated on 28 Nov, 2017 at 8:34 pm

Advertisement

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ पर देशभर में विवाद छिड़ा हुआ है। देश के अलग-अलग हिस्सों में आज भी फिल्म पर बैन की मांग को लेकर प्रदर्शन किए जा रहे हैं।

इस फिल्म के कथानक को लेकर आक्रोश है। राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी नेताओं और हिंदूवादी संगठनों ने फिल्म में इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है।

करणी सेना ने सिनेमाघर जलाने, जान से मारने और हिंसा फैलाने की धमकी दी है। उनका कहना है कि वह इस फिल्म को रिलीज़ नहीं होने देंगे, क्योंकि इसमें तथ्यों को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया है।

 


Advertisement

‘पद्मावती’ फिल्म निर्माण के समय से ही विवादों में घिरी हुई है। राजस्थान में फिल्म की शूटिंग के दौरान करणी सेना द्वारा फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली पर हमला भी किया गया था। जैसे- जैसे फिल्म की रिलीज़ डेट सामने आती गई वैसे-वैसे इसको लेकर विवाद भी बढ़ता गया। नाक काटने की धमकी से लेकर सिर कलम करने तक के फरमान जारी किए गए।

 

मेरठ के एक राजपूत नेता ने संजय लीला भंसाली के सिर पर इनाम रखते हुए कहा कि जो भंसाली का सिर काट कर लाएगा उसे पांच करोड़ का इनाम दिया जायेगा। वहीं राजपूत करणी सेना के महिपाल सिंह मकराना ने दीपिका पादुकोण की नाक काटने की धमकी दी हुई है।

इस दृश्य को लेकर हो रहा है विवाद:

 

विरोध करने वालों के मुताबिक, फिल्म ‘पद्मावती’ में अलाउद्दीन खिलजी का गुणगान किया जा रहा है। इनका आरोप है कि फिल्म में खिलजी और पद्मावती के बीच अंतरंग दृश्य दिखाया गया है।

दरअसल, फिल्म में खिलजी और रानी पद्मावती के बीच एक ड्रीम सीक्वेंस फिल्माया गया है, जिसपर राजपूतों ने आपत्ति दर्ज कराई है। करणी सेना का कहना है कि मूवी के एक ड्रीम सीन में रानी पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी के बीच लव सीन फिल्माया गया है जोकि बर्दाश्त के बाहर है।

 

आरोप लगाने वालों का कहना है कि इतिहास में ऐसा कहीं जिक्र नहीं है कि पद्यावती और खिलजी के बीच कोई संबंध था। यह फिल्म इतिहास का अपमान है।

 



 

उनका कहना है कि रानी पद्मावती को जिस तरह फिल्म में दिखाया गया है वैसा राजपूत या राजपरिवारों में नहीं होता।

 

घूमर डांस के बारे में कहा जा रहा है कि पुरुषों के सामने रानियां डांस नहीं किया करती थी।

 

जानिए कौन थीं रानी पद्मावती

 

 

रानी पद्मावती को पद्मिनी के नाम से भी जाना जाता था। वे चित्तौड़गढ़ की रानी थीं। कहा जाता है कि खिलजी वंश का शासक अलाउद्दीन खिलजी पद्मावती को पाना चाहता था। रानी को जब ये पता चला तो उन्होंने कई अन्य राजपूत महिलाओं के साथ जौहर कर लिया। यह बात सुप्रसिद्ध इतिहासकार आर.वी. सिंह द्वारा लिखित राजपूताना का इतिहास नमक पुस्तक में भी दर्ज है।

 

 


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement