Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

ये लड़कियां नचाती हैं लोगों को अपने ढोल की थाप पर

Updated on 31 January, 2019 at 12:48 am By

Advertisement

ढोल की थाप पर लड़कियों को नाचते तो आपने खूब देखा होगा। लेकिन क्या आपने कभी किसी लड़की को ढोल बजाते दूसरों को अपनी  थाप पर नचाते हुए देखा है? नहीं देखा, तो हम आपको बताते हैं दो ऐसी लड़कियों के बारे में, जो अपने ढोल के थाप पर लोगों को नचाती हैं। ये दोनों ही अलग-अलग देशों से ताल्लुक रखती हैं। एक जहां अपनी धुन पर पूरी दुनिया को नचाती हैं। तो दूसरी पूरे भारत में अपने ढोल की वजह से जानी जाती हैं।

 

रानी ताज

सबसे पहले आपको बताते हैं दुनिया की पहली ढोल प्लेयर से। इनका नाम है रानी ताज। रानी ब्रिटिश पाकिस्तानी ढोल प्लेयर हैं। 25 साल की रानी इंटरनेशनल ढोल प्लेयर हैं। रानी को पहचान साल 2010 में मिली जब उन्हें रिहाना के एल्बम ‘रूड बॉय’ में लाइव ढोल बजाते हुए देखा गया। रानी 8 साल की उम्र से ढोल बजा रही हैं। उन्होंने सबसे पहले बर्मिंघम में बैसाखी मेले में ढोल बजाया था। बस तभी से वो लोगों को अपनी थाप पर नचवा रही हैं।


Advertisement

 

पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस पर रानी ताज इस बार पहली बार पाकिस्तान गई थीं। रानी ने पाकिस्तान के लोगों के साथ पाकिस्तान की आज़ादी का जश्न मनाया। लोग भी रानी के ढोल पर जमकर नाचे। इसके अलावा रानी कई सारे स्टेज शो भी कर चुकी हैं। वो लोगों के बीच काफ़ी लोकप्रिय हैं। लोग उन्हें कई फ़ंक्शनस के लिए भी बुलाते हैं।

 

 

जहां गीत सिंह



इंडिया की सबसे छोटी फ़ीमेल ढोल प्लेयर हैं जहां गीत सिंह। जहां गीत सिंह चंडीगढ़ की रहने वाली हैं। जहां गीत महज़ 19 साल की हैं और इतनी कम उम्र में अब तक 200 लाइव स्टेज परफ़ॉर्मेंस दे चुकी हैं। ये काम करना जहां गीत के लिए आसान नहीं था। उन्हें भी बाकी लड़कियों की तरह रोका-टोका गया। लेकिन इससे उन्होंने हार नहीं मानी, बल्कि उनका इरादा और पक्का हो गया। इस पक्के इरादे के साथ उन्होंने ढोल बजाना शुरू किया और अब वो इसी की वजह से पूरे देश में अपनी पहचान बना रही हैं।

Jahan Geet Singh

 

 

जहां गीत ने 12 साल की उम्र से ढोल बजाना शुरू किया था। वो जिस जगह ढोल सीखने जाती थीं, उनके उस्ताद जी के साथ बाकी साथी उन पर हंसते थे। महज़ 12 साल की उम्र में जहां के कंधे पर 6 किलो का ढोल होता था। इसे बजाना उस समय आसान नहीं था। फिर भी उन्होंने हार नहीं मानी। कभी-कभी ढोल बजाते हुए उनके हाथों से खून आ जाता, तो कभी कंधे, गर्दन और पीठ में दर्द हो जाता था फिर भी उस्ताद जी कहते ही वो और ज़ोर से बजाने लगती। वो भी इंतज़ार कर ही रहे थे जहां के सब्र का बांध टूटे और वो खुद ही ढोल से नाता तोड़ दें। लेकिन ऐसा हुआ नहीं, बल्कि जहां का ढोल से और गहरा कनेक्शन बनता गया।

 

 


Advertisement

जहां गीत और रानी ताज महिलाओं के लिए मिसाल से कम नहीं हैं। इन दोनों ने ही इस धारणा को तोड़ा है ढोल केवल लड़के ही बजा सकते हैं। इन दोनों ने ही अपनी कला का नमूना पेश कर बताया है हम जो चाहें वो सपने देख सकते हैं और उन्हें पूरा करने का दमखम भी हम रखते हैं। लोगों की कही बातों को हमें हमेशा अपनी ताकत बनाना चाहिए। फिर देखिए दुनिया किस तरह सलाम करती है।

Advertisement

नई कहानियां

शहीद जवानों के परिवार की मदद को आगे आया रिलायंस, पढ़ाई-रोजगार और घर-खर्च का लिया ज़िम्मा

शहीद जवानों के परिवार की मदद को आगे आया रिलायंस, पढ़ाई-रोजगार और घर-खर्च का लिया ज़िम्मा


पुलवामा हमले को लेकर फूट रहा लोगों का गुस्सा, लेकिन विरोध का ये तरीका कहां तक जायज़ है?

पुलवामा हमले को लेकर फूट रहा लोगों का गुस्सा, लेकिन विरोध का ये तरीका कहां तक जायज़ है?


‘द कपिल शर्मा शो’ में अब ये एक्ट्रेस लेंगी सिद्धू की जगह!

‘द कपिल शर्मा शो’ में अब ये एक्ट्रेस लेंगी सिद्धू की जगह!


Snapchat की तरह ही ट्विटर भी जल्द ला रहा है ये ‘विजुअल शेयरिंग फ़ीचर’

Snapchat की तरह ही ट्विटर भी जल्द ला रहा है ये ‘विजुअल शेयरिंग फ़ीचर’


Snapchat के इस एक फ़ीचर ने बचाई मां-बेटी की जान

Snapchat के इस एक फ़ीचर ने बचाई मां-बेटी की जान


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

और पढ़ें यूट्यूब युवा

नेट पर पॉप्युलर