इस्लामिक स्टेट के खिलाफ गाने के लिए 46 मौलवियों ने जारी किया सिंगर के खिलाफ फतवा

author image
Updated on 16 Mar, 2017 at 2:03 am

Advertisement

असम में 46 मौलानाओं ने एक 16 वर्षीया उभरती गायिका के खिलाफ फतवा जारी किया है। गायिका नाहिद आफरीन का जुर्म यह है कि उसने कथित तौर पर कुछ ऐसे गीत गाए थे, जो अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट के खिलाफ थे। इस रिपोर्ट के मुताबिक, वर्ष 2015 में रिएलिटी टीवी शो इन्डियन आइडल जूनियर की फर्स्ट रनर अप रहीं आफरीन के खिलाफ फतवा इसलिए भी जारी किया गया है ताकि उसे लोगों के सामने गाना गाने से रोका जा सके।

बताया गया है कि असम के होजई और नागांव जिलों में ऐसे कई पर्चे बांटे गए हैं, जिनमें फतवा जारी किया गया है। असमिया भाषा में जारी इस फतवे में इसे जारी करने वाले मौलानाओं का नाम है। इस पर्चे में लिखा हुआ है कि नाहिद को अगले 25 मार्च को असम के लंका इलाके में उदाली सोनई बीबी कॉलेज में परफॉर्म करना है, जो पूरी तरह गैर-इस्लामी और शरिया के खिलाफ है।

इस फतवे में कहा गया हैः

“म्यूजिकल नाइट जैसी चीजें पूरी तरह से शरिया के खिलाफ है। अगर इस तरह की चीजें मस्जिद, इदगाह, मदरसा और कब्रिस्तान के आसपास होने लगीं तो हमारी भविष्य की पीढ़ी को अल्लाह की नाराजगी झेलनी पड़ेगी।”

गायिका नाहिद आफरीन 10वीं कक्षा में पढ़ती है। वह बिस्वनाथ चारिअली इलाके की वाशिन्दा है।


Advertisement

रिपोर्ट में कहा गया है कि जब नाहिद को फतवे की जानकारी लगी तो वह रोने लगी। नाहिद ने कहाः

“मैं इस पर क्या कहूं। मैं पूरी तरह से अवाक हूं। मुझे लगता है कि मेरा संगीत अल्लाह का तोहफा है मेरे लिए। मैं इस तरह की धमकियों के आगे झुककर अपना संगीत नहीं छोड़ूंगी।”

पूरे मामले पर नाहिद की मां का कहना हैः

“म्यूजिकल नाइट प्रोग्राम के आयोजकों ने हमसे कहा है कि यह प्रोग्राम रद्द नहीं होगा।”

इस बीच, पुलिस ने कहा है कि नाहिद आफरीन और उनके परिवार को पूरी सुरक्षा मुहैया करायी जाएगी।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement