Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

मैग्लेव है दुनिया की सबसे तेज ट्रेन, रफ्तार में सबसे आगे

Published on 20 December, 2016 at 11:08 am By

मैग्लेव ट्रेन को दुनिया की सबसे तेज ट्रेन कहा जाता है। मैग्लेव दो शब्दों मैग्नेटिक लेवीटेशन से मिलकर बना है। इसका मतलब होता है चुंबकीय शक्ति से ट्रेन को हवा में ऊपर उठाकर चलाना। यह ट्रेन जब करीब 100 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार पकड़ लेता है, तब ट्रेन चुंबकीय शक्ति से पटरी से हवा में करीब 10 सेंटीमीटर ऊपर तक उठ जाती है और दौड़ती है।


Advertisement

माना जा रहा है कि जापान सेन्ट्रल रेलवे वर्ष 2017 में इस ट्रेन को सर्विस में लाएगा। इसकी सेवा टोकियो और नागोया शहरों के बीच शुरू की जाएगी। मैग्लेव ट्रेन की सवारी किसी प्लेन से कम नहीं है। इस ट्रेन में न केवल रफ्तार, बल्कि लोगों की सुविधाओं पर पूरा ध्यान दिया जाता है।

वहीं, फ्रान्स में चलने वाली टीजीवी ट्रेन को दुनिया की सबसे तेज ट्रेन्स में एक माना जाता है। वर्ष 2007 में इस ट्रेन ने 574 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ी थी और एक रिकॉर्ड स्थापित किया था। सामान्य तौर पर 320 किमी प्रति घंटे की स्पीड से चलती हैं।



अब बात चीन में बीजिंग से शंघाई तक चलने वाली ट्रेन हार्मनी सीआरएच 380ए की। यह ट्रेन सामान्य तौर पर 380 किमी प्रति घंटे की स्पीड से चलाई जाती है। लेकिन वर्ष 2010 में इस ट्रेन ने ट्रायल के दौरान 486 किमी प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ ली थी।

जहां तक जर्मनी की बात है, तो यहां हनोवर से वुर्त्सबुर्ग के बीच चलाई जाने वाली आईसीई ट्रेन की गति प्रतिघंटा 250 किलोमीटर है। इस ट्रेन ने ट्रायल के दौरान 406 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार पकड़ी थी।


Advertisement

फिलहाल में चीन के शंघाई शहर में चल रही ट्रांसरैपिड दुनिया की सबसे तेज ट्रेन है। इस ट्रेन को शंघाई शहर से एयरपोर्ट तक की 30 किलोमीटर की दूरी तय करने में आठ मिनट का समय लगता है। इस ट्रेन की गति करीब 430 किलोमीटर प्रति घंटा है।

Advertisement

नई कहानियां

G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!

G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!


Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा

Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा


Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी

Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी


जानिए क्या है Google’s Birthday Surprise Spinner, बच्चों से लेकर बड़ों में है इसका क्रेज़

जानिए क्या है Google’s Birthday Surprise Spinner, बच्चों से लेकर बड़ों में है इसका क्रेज़


क्या Clash of Clans के बारे में पहले कभी सुना है? जानिए इसके बारे में सबकुछ

क्या Clash of Clans के बारे में पहले कभी सुना है? जानिए इसके बारे में सबकुछ


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Travel

नेट पर पॉप्युलर