खेती कर पसीना बहाते किसान की बेटी ने सब इंस्पेक्टर की परीक्षा में किया टॉप

author image
Updated on 6 Jul, 2016 at 9:37 pm

Advertisement

एक पिता ने अपनी गरीबी को कभी भी अपनी बेटी की शिक्षा में बाधा नहीं बनने दिया। उन्होंने  हर वह संभव कोशिश की, जिससे उनकी बेटी का भविष्य उज्जवल रहे।

जिला सिरमौर की गिरिपार पमता पंचायत की सुषमा कपूर सब इंस्पेक्टर की परीक्षा में प्रदेश में शीर्ष स्थान पर रही। कर्मचारी चयन आयोग ने पुलिस में 16 पदों के लिए महिला सब इंस्पेक्टर भर्ती की परीक्षा ली थी। बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाली सुषमा ने सब इंस्पेक्टर भर्ती की परीक्षा दी थी।

सुषमा करीब ढाई साल पहले पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा उत्तीर्ण कर शिमला के जुन्गा में सेवारत है। अब सब इंस्पेक्टर परीक्षा का परिणाम घोषित होने पर सुषमा को सबसे ज़्यादा 184 अंक मिले।

सुषमा ने अपनी स्कूली पढ़ाई, 10वीं कमरऊ स्कूल, 12वीं कफोटा स्कूल से की। इसके बाद नाहन कॉलेज से बीएससी मेडिकल और बीकेडी पांवटा कॉलेज से बीएड की डिग्री हासिल की।


Advertisement

अमर उजाला से खास बातचीत में सुषमा बताती है:

“अपने परिजनों से किया गया वायदा पूरा करके अच्छा लगता है। परिजनों और शिक्षकों से जीवन में सत्यनिष्ठा, हिम्मत, कठिन परिश्रम कर आगे बढ़ने की शिक्षा और संस्कार मिले है।”

सुषमा के पिता इंदर सिंह ने विषम परिस्तिथियों के बावजूद अपनी बेटी को बेहतर शिक्षा दिलाई। उसे उसके सपनों को जीने की आजादी दी गई। खेती कर पसीना बहाने वाले एक किसान पिता ने अपनी बेटी के सपनों को हकीकत में जीने दिया।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement