Advertisement

स्वदेशी बोफोर्स तोप ‘धनुष’ में लग रहे चीनी पुर्जे, FIR दर्ज

11:32 am 22 Jul, 2017

Advertisement

चीन ने अपने उत्पादों को भारतीय बाजार में फैला कर रखा है। कम दाम में नई तकनीक उपलब्ध कराकर लोकप्रिय हो गया है। इतना ही नहीं उसके उत्पाद धोखे से भारतीय सैन्य उपक्रमों में भी इस्तेमाल में लाए जा रहे हैं। सीबीआई ने एक ऐसा ही मामला दर्ज किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सेना के लिए बनाई जा रही स्वदेशी बोफोर्स तोपों के लिए चीन में बनाए गए कलपुर्जों का उपयोग हो रहा है। चीनी कलपुर्जों को मेड इन जर्मनी के नाम पर धोखे उपयोग किया गया।

अब इस मामले का खुलासा होने पर CBI ने दिल्ली में ‘सिद्ध सेल्स सिंडीकेट’ और ‘गन्स कैरिज फैक्ट्री’ (GSF) जबलपुर के अज्ञात अधिकारियों के खिलाफ जालसाजी, साजिश और धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।


Advertisement

भारत साल 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ कारगिल युद्ध के दौरान शानदार प्रदर्शन करने वाली बोफोर्स तोपों का स्वदेशी संस्करण धनुष बन रहा है। इसके निर्माण के लिए जो कल पुर्जे मंगाए गए उनमें फर्जीवाड़ा सामने आया है। CBI का कहना है कि धनुष के निर्माण के लिए नकली कल पुर्जे की आपूर्ति हो रही थई। ऐसा एक साजिश के तहत किया जा रहा था।

CBI ने कहा है कि GSF के अज्ञात अधिकारियों ने चीन निर्मित वायर रेस रोलर बियरिंग्स की अनुमति दी, जिसकी आपूर्ति दिल्ली स्थित सिद्ध सेल्स सिंडिकेट ने CRB मेड इन जर्मनी पर की। आपूर्ति हुए पुर्जे का कुल मूल्य 53.07 लाख रुपए थे।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement