ये 6 तथ्य साबित करते हैं कि आने वाले सालों में भारत महाशक्ति बनकर उभरेगा

Updated on 6 Mar, 2018 at 11:38 pm

Advertisement

पिछले कुछ सालों में जिस गति के साथ भारत आगे बढ़ रहा है, वे आर्थिक महाशक्ति बनने की ओर अग्रसर है। 2017-18 के आर्थिक सर्वे के अनुसार, वर्तमान सरकार द्वारा किए गए सुधारों की बदौलत भारत का सकल घरेल उत्पाद (जीडीपी) आने वाले सालों में 7.0 से 7.5 प्रतिशत तक हो सकता है। इस तरह से भारतीय अर्थव्यवस्थ दुनिया की सबसे तेजी से विकसित होती अर्थव्यवस्था बनेगी।

हाल ही में दावोस में वर्ल्ड इकॉनोमिक फोरम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि उनका लक्ष्य आने वाले सात सालों में भारतीय अर्थव्यवस्था को दोगुना करना है। ऐसे में ये 6 तथ्य बताते हैं कि नरेंद्र मोदी का भारत को सुपरपॉवर बनाने का सपना जल्द पूरा हो सकता है।

 

 


Advertisement

1. आर्थिक विकास

 

किसी भी देश की शक्ति का अंदाज़ा उसकी जीडीपी से लगाया जाता है। आर्थिक विकास देश का भविष्य तय करती है। भारत उन चंद देशो में से एक है, जिसका जीडीपी न सिर्फ़ बढ़ा है, बल्कि विकास दर भी तेज़ है। फिलहाल अमेरिका की जीडीपी भारत से ज़्यादा है, मगर उसका विकास दर भारत से कम है। सिर्फ़ भारत और चीन ही आर्थिक महाशक्ति के रूप में उभरने की क्षमता रखता है।

2. पैमाना (स्केल)

 

भारत के पास बहुत बड़ी जनशक्ति है, जिसकी बदौलत यहां बड़ी-बड़ी परियाजनाओं और बुनियादी ढांचे का निर्माण किया जा सकता है, जो किसी और के लिए संभव नहीं है। यूरोपीय देशों में तो काम करने वाले लोगों की ही कमी है, मगर भारत में काम करने वालों की संख्य बहुत ज़्यादा है। यदि इनका सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए, तो भारत को महाशक्ति बनने से कोई नहीं रोक सकता।

3. आईसीटी

 

भारत ने मनोरंजन और आईसीटी पर फोकस करके इस क्षेत्र में दुनिया का सबसे बड़ा सप्लायर बनने का फैसला किया है। मुंबई की फिल्म इंडस्ट्री पूरी दुनिया में सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री है। बैंगलोर दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी आईसीटी कंपनियों वाला शहर है। ऐसा अनुमान है कि कुछ सालों में बैंगलोर कैलिफोर्निया की सिलिकन वैली से भी बड़ा आईसीटी शहर बन जाएगा। इन दोनों क्षेत्रों के विकास पर ध्यान देकर यकीनन भारत आर्थिक महाशक्ति बन सकता है।



4. स्वतंत्रता

 

एक अन्य चीज़ जो भारत को चीन से बेहतर अर्थव्यवस्था बनाती है वो है आज़ादी। भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। भारत में मुक्त बाज़ार प्रणाली है, इसलिए यह जो अमेरिका आज है उसकी ओर बनने में अग्रसर है । लोकतांत्रिक शासन की वजह से ही भारत का विकास दर चीन से कहीं ज़्यादा है। चीन भले ही तकनीक में हम से आगे है, मगर वो लोकतांत्रिक देश नहीं है।

5. फौज

 

भारत के पास दुनिया की दूसरे सबसे बड़ी फौज है। सिर्फ़ चीन के पास ही भारत से ज़्यादा फौज है, लेकिन हथियार और फौजी ताकत के मामले में भारत चीन से पीछे नहीं है। भारत के पास 1100 लड़ाकू विमान, 4500 यूनिट टैंक आदि हैं। इतना ही नहीं, भारतीय सेना दुनिया की सबसे बड़ी और ताकतवर सेनाओं में से एक मानी जाती है।

6. परमाणु ताकत

 

दुनिया में सिर्फ़ 9 देशों के पास ही परमाणु हथियार हैं। भारत के पास परमाणु हथियार होना उसके महाशक्ति बनने में मददगार हो सकता है, क्योंकि जिन देशों के पास परमाणु ताकत होती है, दूसरे देश उससे दुश्मनी मोल नहीं लेते।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement