10 ऐसी गलतियां जिसकी इतिहास को भारी कीमत चुकानी पड़ी, आप भी जानिए

Updated on 16 Jul, 2018 at 12:27 pm

Advertisement

इतिहास से हम सबको सबक लेना चाहिए। गलतियां हर इंसान से होती है और इंसान उन्हीं गलतियों से सीखकर आगे बढ़ता है, मगर कुछ गलतियां ऐसी हैं, जिनकी कीमत इतिहास को चुकानी पड़ी हैं और ये गलतियां बहुत महंगी साबित हुई हैं। इतिहास की ये गलतियां कुछ इस तरह हैं।

अलास्का का बेचा जाना

1867 में रूस ने अलास्का को अमेरिका को बेहद कम कीमत पर बेच दिया था और इस गलती के लिए शायद रूस को हमेशा पछतावा रहेगा, क्योंकि अलास्का में प्राकृतिंक संसाधनों का बड़ा भंडार है, जिसकी कीमत अरबों डॉलर में है।

 

10 महंगी गलतियां  (Expensive Mistakes Of All Time)

भारत-पाकिस्तान का बंटवारा

इस गलती की सजा भारत और पाकिस्तान दोनों आज तक भुगत रहे हैं। दोनों देशों के बीच अपरोक्ष संघर्ष जारी है। हर साल सैकड़ों सैनिकों को अपनी जान गवानी पड़ती है। यानी इस गलती की सजा जान और माल की हानि के रूप में दोनों देश भुगत रहा है।

 

नासा का मंगल जलवायु ऑर्बिटर

नासा ने मंगल ग्रह पर जलवायु के अध्ययन के लिए मंगल जलवायु ऑर्बिटर डिज़ाइन किया था, लेकिन इंजीनियरों की एक गलती की वजह से ऑर्बिटर मार्टिन वायुमंडल में ही जल गया। नासा के इंजीनियर मेज़रमेंट यूनिट को पाउंड से न्यूटन में बदलना भूल गए, जिसकी वजह से 125 मिलियन डॉलर की सैटेलाइट नष्ट हो गई।

 

 

हीथ्रो की अव्यवस्था

हीथ्रो टर्मिनल 5 की ओपनिंग2008 में हीथ्रो इंटरनेशनल टर्मिनल की ओपनिंग के दौरान भारी अव्यस्था फैल गई। हीथ्रो को 20 सालों की प्लानिंग व अरबों खर्च करके बनाया गया। स्टाफ को 6 महीने ट्रेनिंग भी दी गई, लेकिन एयरपोर्ट के ओपन होते ही बैगेज सिस्टम फेल हो गया और चारों तरफ अफरातफरी मच गई। ओटोमैटिक सिस्टम के फेल होने की वजह से यात्रियों को घंटों एयरपोर्ट पर इंतज़ार करना पड़ा और कुछ को बिना सामान के ही जाना पड़ा।

 

द मोरिस वृम (कृमि)

यह एक इंटरनेट वायरस था जो रॉर्बट मोरिस नामक छात्र ने गलती से बना दिया था। इसकी वजह से डेटा और जानकारी के लीक होने का खतरा बढ़ गया, जिससे लोग आतंकित हो गए। इस वायरस को फैलने से रोकन के लिए तुरंत उपाय किए गए जिस पर लाखों डॉलर खर्च हुए।


Advertisement

 

मोहम्मद गोरी और पृथ्वीराज चौहान

भारतीय बहुत दयावान होते हैं और पृथ्वीराज चौहान इसकी बेहतरीन मिसाल हैं, जिन्होंने तराइन के पहले युद्ध में मोहम्मद गोरी को पराजित कर दिया था। वो चाहते तो उसी समय गोरी का सिर धड़ से अलग कर सकते थे, लेकिन ऐसा करना राजपूताना परंपरा के खिलाफ था, इसलिए पृथ्वीराज चौहान ने गोरी को जाने दिया। उनकी यह गलती पूरे भारत को बहुत महंगा साबित हुआ। गोरी ने फिर से हमला किया और इस बार पृथ्वीराज चौहान के हारने के साथ ही भारत पर इस्लाम का कब्जा हो गया, जो 800 सालों तक रहा।

 

एक येन में 610,000 शेयर बिके

मिजुहो सिक्योरिटी एक जापानी ट्रेडिंग कंपनी है जो अपने एक शेयर को 610,000 येन में बेचना चाहती थी, मगर स्टॉकब्रोकर (जो शायद रात में अच्छी तरह सोया नहीं था) ने एक येन (जापानी मुद्रा) में 610,000 शेयर बेचने का प्रस्ताव लगा दिया, जब तक उसे अपनी गलती का एहसास होता स्टॉक एक्सेचेंज में ये ऑर्डर पास हो गया और कंपनी को 225 मिलियन डॉलर का नुकसान उठाना पड़ा।

 

टाइटनिक का डूबना

टाइटनिक का डूबना इतिहास की बहुत बड़ी त्रासदी थी, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि इसे बचाया जा सकता था। टाइटनिक चालक दल की लापरवाही की वजह से डूबा। दरअसल, टाइटनिक पर दो तरह के स्टियरिंग सिस्टम काम कर रहे थे। जहाज पर मौजूद चालक दल के कुछ सदस्यों को एक सिस्टम की जानकारी थी तो बाकी को दूसरे सिस्टम की, लेकिन अचानक इन दोनों सिस्टम के बीच तालमेल टूट गया और बर्फ के पहाड़ से टक्कराने के बाद दोनों सिस्टम के चालक दल अलग-अलग दिशा में काम करने लगे, जिससे जहाज डूब गया।

 

 

पुरुलिया हथियार कांड

पुरुलिया हथियार कांड आज तक एक रहस्य ही बना हुआ है, क्योंकि हथियार गलत जगह पर गिराए गए। हथियार किसने गिरवाए इसका अभी तक पता नहीं चल सका।

 

116 मिलियन पाउंड का जैकपोट जिसका दावा नहीं किया गया

एक शख्स ने अपनी पत्नी के कहने पर घर की पूरी तरह से सफाई कर डाली और इसमें उसने वो लॉटरी टिकट भी फेंक दिया, जिसका जैकपॉट 116 मिलियन पाउंड लगा।

 

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement