अगले पांच साल में रॉकेट से सफर कर सकेंगे धरतीवासी, दिल्ली से टोकियो सिर्फ 30 मिनट में

Updated on 30 Sep, 2017 at 3:36 pm

Advertisement

अगर सबकुछ ठीक रहा तो अगले पांच साल में धरती पर ही यात्री रॉकेट से सफर कर सकेंगे। जी हां, SpaceX के संस्थापक एलन मस्क का कहना है कि रॉकेट परिवहन की दुनिया में क्रान्ति का वाहक होगा। इसके जरिए लोग पूरी दुनिया में सिर्फ एक घंटे के अंदर कहीं भी जा सकेंगे। इस हिसाब से दिल्ली से टोकियो की दूरी सिर्फ 30 मिनट में तय की जा सकेगी।

अमेरिका में अपनी कंपनी SpaceX की भावी योजनाओं का खुलासा करते हुए मस्क ने कहा कि जब हम रॉकेट के जरिए मंगल और चांद पर जाने की बात कर रहे हैं, तो फिर पृथ्वी पर एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए इसका उपयोग क्यों नहीं कर सकते? मस्क कहते हैं कि दुनिया के बड़े शहरों के बीच लोगों को ले जाने के लिए रॉकेट का इस्तेमाल होना चाहिए।

SpaceX की यह योजना मूर्त रूप लेती है तो फिर बैंकॉक से दुबई के बीच सफर में महज 27 मिनट लगेंगे। जबकि जापान की राजधानी टोकियो से दिल्ली की यात्रा महज 30 मिनट में पूरी की जा सकेगी।


Advertisement



एलन मस्क ने अपनी कंपनी की योजनाओं के बारे में बात करते हुए कहा कि अगले पांच साल में मंगल ग्रह पर मालवाहक जहाज भेज दिया जाएगा। इस प्रस्तावित जहाज का निर्माण अगले 6 से 9 महीनों के तय समय में शुरू कर दिया जाएगा। साथ ही 5 साल के नियत समय में इसकी लॉन्चिंग कर दी जाएगी। मस्क का दावा है कि वर्ष 2022 में मंगल ग्रह पर कम से कम दो कार्गो शिप उतार दिए जाएंगे। इन कार्गो शिप में मंगल पर पावर, माइनिंग और लाइफ सपॉर्ट इन्फ्रास्ट्रक्चर स्थापित करने वाले सामान होंगे। बाद में वर्ष 2024 में 4 जहाज लोगों को और सामानों को लेकर जाएंगे।

इस योजना को SpaceX प्लांड इंटरप्लैनेट्री ट्रांसपोर्ट सिस्टम नाम दिया है। इसका कोडनेम BFR है।

मस्क की महती योजना को इस विडियो में देखा जा सकता है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement