विजय माल्या पर ईडी ने किया केस दर्ज, नहीं मिलेंगे डियाजिओ डील के 515 करोड़

author image
Updated on 8 Mar, 2016 at 11:01 am

Advertisement

विजय माल्या चौतरफा मुश्किलों में घिरते नजर आ रहे हैं। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जहां उनके खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज कर लिया है, वहीं इस मामले में बेंगलुरू की एक अदालत ने सुनवाई करते हुए कहा है कि जब तक केस चल रहा है तब तक उन्हें डियाजिओ डील के 515 करोड़ रुपए निकालने पर रोक होगी। विजय माल्या पर भारतीय स्टेट बैंक सहित कई बैंकों के डिफॉल्टर होने का आरोप है।

अखबारों की रिपोर्ट के मुताबिक, जल्दी ही ईडी के अधिकारी विजय माल्या से पूछताछ कर सकते हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले भारतीय स्टेट बैंक ने शुक्रवार को कर्नाटक हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी, जिसमें कहा गया था कि हजारों करोड़ रुपए का कर्ज चुकाने में असफल रहे विजय माल्या का पासपोर्ट जब्त किया जाए और उनकी गिरफ्तारी हो।

माल्या की कंपनी किंगफिशर लिमिटेड पर सरकारी और निजी बैंकों का करीब 7,800 करोड़ रुपए बकाया हैं। भारतीय स्टेट बैंक का इस एयरलाइन कंपनी पर 1,600 करोड़ रुपए का बकाया है। कंपनी ने वर्ष 2012 के बाद से ऋण के लिए कोई भुगतान नहीं किया है।


Advertisement

एयरलाइन को ऋण देने वाले बैंकों के गठजोड़ में पंजाब नेशनल बैंक, बैंक आफ बड़ौदा, केनरा बैंक, बैंक आफ इंडिया, सेंट्रल बैंक आफ इंडिया, फेडरल बैंक, यूको बैंक और देना बैंक शामिल हैं।

इस बीच, किंगफिशर एयरलाइंस के चीफ फाइनेंश‍ियल ऑफिसर ए. रघुनाथन सहित कई बैंकों के बड़े अधिकारियों के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्‍ट (पीएमएलए) की धारा 3 और 4 के तहत केस दर्ज किया गया है।

इस बीच, बेंगलुरू में एक अदालत ने अपने आदेश में डियाजियो पर माल्या को 7.5 करोड़ डॉलर की राशि के भुगतान से रोक दिया है। कहा गया है कि मूल अपील के निपटान तक यह राशि जब्त रहेगी।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement