वक़्त से पहले ही मिल सकते हैं भारत को राफेल लड़ाकू विमान, उड़ी चीन-पाक की नींद

author image
Updated on 2 Oct, 2016 at 2:03 pm

Advertisement

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने भारत को जल्द ही फ्रांस से राफेल लड़ाकू जेट विमानों के वक़्त से पहले मिलने के संकेत दिए हैं।

एक स्वच्छता रैली में हिस्सा लेने गए रक्षा मंत्री ने राफेल डील के अन्तर्गत भारत को मिलने वाले लड़ाकू विमानों की समय अवधि पर मीडिया से बात करते हुए कहाः

“इस डील की शर्तों के अनुसार, डील की तय सीमा 36 महीने हैं, लेकिन यह हमें तय समय से पहले मिल सकता है।”

आपको बता दें कि फ्रांस से भारत अरबों रुपए के खर्च से 36 राफेल विमान खरीद रहा है, जिससे पडोसी मुल्कों चीन और पाकिस्तान की नींद उड़ गई है। भारत और फ्रांस के रक्षा मंत्रियों ने 23 सितंबर को राफेल लडाकू विमानों के लिए 7.87 अरब यूरो (करीब 59000 करोड रुपए) के समझौते पर हस्ताक्षर किए।

अंतरराष्ट्रीय सीमाओं की सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए, सुरक्षा व्यवस्था को और मजबूत करने के उद्देश्य से, राफेल विमान खरीदे जा रहे हैं। अत्याधुनिक मिसाइल और तकनीकों से लैस इन विमानों से भारतीय वायु सेना को मजबूती मिलेगी।

Rafale

3 हजार 800 किलोमीटर तक उड़ान भरने वाले राफेल विमानों में हवा से जमीन में मार करने वाली मिसाइलें लगी हैं।


Advertisement

इसकी घातक मारक क्षमता का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि वायु सेना भारत में रहकर ही इस विमान के जरिए पाकिस्तान और चीन पर हमला करने में सक्षम है।

आपके विचार


  • Advertisement