डॉक्टर्स ने किया बड़ा खुलासा, इस डर की वजह से हुआ था डॉक्टर हाथी को हार्ट अटैक

Updated on 13 Jul, 2018 at 1:59 pm

Advertisement

सबटीवी के चर्चित शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा” के मशहूर कलाकार डॉ. हाथी अब इस दुनिया को अलविदा कह चुके हैं। 9 जुलाई यानी बीते सोमवार को दिल का दौरा पड़ने से उनकी मौत हो गई थी। इस तरह अचानक उनके चले जाने से शॉ को कास्ट सदमे में है। शो में कवि कुमार आजाद ने डॉ. हंसराज हाथी का किरदार निभाया था, जिसे लोगों ने काफी पसंद किया।

 

अब उनकी मौत को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। करीब 8 साल पहले डॉ. हाथी की सर्जरी करने वाले डा. मुफी लकड़वाला के मुताबिक उन्होंने कवि कुमार आजाद (डॉ. हाथी) को अपना वजन कम करने की सलाह दी थी, लेकिन वो जानबूझकर अपना वजन कम नहीं करना चाहते थे।

मोटापा बना डॉ. हाथी की मौत का कारण ( Heavy wait is the cause of his death)

abplive


Advertisement

 

डॉ. लकड़वाला  ने बताया कि  8 साल पहले जब डॉ. हाथी उनके पास इलाज के लिए आए थे तो उनकी हालत काफी नाजुक थी। वो शूटिंग के दौरान सेट पर बेहोश हो गए थे। उनकी स्थिति को देखते हुए डॉक्टर ने उन्हें बैरिएट्रिक सर्जरी कराने की सलाह दी थी, लेकिन कवि कुमार आजाद ने काम न मिलने के डर की वजह से सर्जरी कराने से मना कर दिया था।

 

 



इसके बाद डॉक्टर ने उन्हें दोबारा बैरिएट्रिक सर्जरी कराने की सलाह दी, लेकिन उन्होंने फिर ये कहते हुए मना कर दिया कि अगर उनका वजन कम हुआ तो वो पर्दे पर काम नहीं कर सकेंगे। इसके जबाव में जब डॉक्टर्स ने उन्हें पैडिंग की मदद लेने का सुझाव दिया, तो उन्होंने ये कहते हुए इंकार कर दिया कि इससे उनका चेहरा मोटा नहीं दिखेगा।

 

 

पहले डॉ. हाथी का वजन 265 किलोग्राम था, जिसे देखते हुए डॉक्टर्स को उनकी सर्जरी करनी पड़ी थी। ऑपरेशन के बाद उनका वजन 140 किलोग्राम हो गया था। इसके बाद दोबारा उन्होंने काम करना शुरु कर दिया था। लेकिन इतना वजन भी उनकी सेहत के लिए नुकसानदायक था, लिहाजा डॉक्टर्स ने उन्हें दोबारा बैरिएट्रिक सर्जरी कराने की सलाह दी, जिसके बाद उनका वजन 140 किलो हो जाता। लेकिन वो कभी भी डॉक्टर्स के पास इलाज कराने के लिए नहीं लौटे।

हो सकता है अगर उन्होंने समय रहते अपना इलाज करा लिया होता तो आज हम सब के बीच डॉ. हाथी का किरदार जिंदा होता।

 

मोटापा बना डॉ. हाथी की मौत का कारण ( Heavy wait is the cause of his death)

dmcdn


Advertisement

Tags

आपके विचार


  • Advertisement