क्या दक्षिण एशिया का सीरिया बनने की राह पर है पाकिस्तान ?

author image
Updated on 22 Aug, 2017 at 6:33 pm

Advertisement

आम तौर पर राजनीतिक विशेषज्ञ व विदेश मामलों के जानकार जब पाकिस्तान पर चर्चा करते हैं तो यह सुना जाता है कि इसका भविष्य ठीक नहीं दिखता। पाकिस्तान को दुनिया भर में एक ऐसे मुल्क के रूप में देखा जा रहा है जो न केवल दुनिया के अलग-अलग इलाकों में इस्लामिक आतंकवाद का निर्यात कर रहा है, बल्कि इसकी सुरक्षा के लिए खतरा भी बन रहा है। पाकिस्तान में कई अंतर्राष्ट्रीय आतंकी संगठन सक्रिय हैं, जो क्षेत्र में अस्थिरता फैलाने का काम कर रहे हैं। खास बात यह है कि इन आतंकी संगठनों को पाकिस्तान की सरकार और सेना दोनों का समर्थन प्राप्त है।

पाकिस्तान इन गुटों का इस्तेमाल अपनी विदेश नीति के तौर पर कर रहा है।

करीब छह महीने के इंतजार के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की नई अफगानिस्तान-पाकिस्तान नीति आ गई है।

डोनाल्ड ट्रम्प ने युद्धग्रस्त अफगानिस्तान में शांति बहाल करने के लिए 4 हजार अतिरिक्त अमेरिकी सैनिकों को तैनात करने का फैसला किया है। साथ ही ट्रम्प ने कहा है कि पाकिस्तान अक्सर अराजकता, हिंसा और आतंकवाद के एजेंटों को सुरक्षित पनाह देता है। ट्रम्प का यह भी कहना है कि अमेरिका आतंकवादी संगठनों को पाकिस्तान द्वारा मुहैया कराई जा रही पनाहगाहों को लेकर खामोश नहीं रह सकता।


Advertisement

आप यहां ट्रम्प का भाषण सुन सकते हैं।

मौजूदा हालात के आलोक में ट्रम्प का यह बयान बेहद महत्वपूर्ण है। उनके बयान को गंभीरता से समझने की आवश्यकता है। ट्रम्प अब पाकिस्तान को अपनी तरफ से और कोशिश करने के लिए नहीं कह रहे हैं, बल्कि वह कार्रवाई करने के लिए कह रहे हैं। माना जा रहा है कि पाकिस्तान को जहां अमेरिकी मदद कम होगी, वहीं उसकी धरती पर आतंकियों के पनाहगारों पर हमले भी बढ़ेंगे।



हक्कानी नेटवर्क से लेकर तहरीक-ए-तालिबान तक तमाम आतंकी गुटों की सक्रियता और ऊपर से अमेरिकी हमले। ट्रम्प ने हालांकि पाकिस्तान को सीरिया बनाने की धमकी नहीं दी है, लेकिन हालात ऐसे बन रहे हैं जिससे लगता है कि पाकिस्तान सीरिया बनने की राह पर है।

आपका क्या मानना है ?


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement