इस भारतीय महिला ने एक ऐसी चीज से बना डाली 1,350 गुड़िया कि गिनीज बुक में नाम हुआ दर्ज

Updated on 27 Mar, 2018 at 1:55 pm

Advertisement

घर में पड़ा सामान जो बेकार हो जाता है, काम का नहीं रहता, उसका आप क्या करते हो ? यक़ीनन आप उसे कचरे में फ़ेंक देते होंगे। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि उसी बेकार कचरे को रीसायकल कर बच्चों के लिए खिलौने बनाये जा सकते हैं।

 

जी हां, कोच्चि की रहने वाली विजिथा रिथीश ने बेकार चीजों से खिलौने बनाकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज कराया है। उन्होंने कूड़े में फेंके जाने वाली चीजों से महीने भर में 1,350 रंग-बिरंगी गुड़िया बनाकर ये रिकॉर्ड बनाया।

 


Advertisement

 

विजिथा रद्दी कागज के टुकड़ों से रंग-बिरंगी गुड़िया बनाती हैं। उन्होंने लगातार प्रयासों से कचरे से खिलौने बनाने में महारत हासिल की।

 

विजिथा कहती हैं-

 

“मैंने बस ऐसे ही शौक के लिए पेपर डॉल बनाना शुरू किया था, लेकिन बाद में मुझे इसमें दिलचस्पी बढ़ने लगी। पहले रोजाना एक-दो गुड़िया और फिर बाद में रोज 10-15 गुड़िया बनाने लगी। इस काम को अब मैं लगातार करना चाहती हूं।”

 



 

विजिथा मानती हैं कि बेकार मानी जाने वाली चीजें भी असल में बेकार होती नहीं है। हमें उसकी उपयोगिता को समझना चाहिए और उसका सदुपयोग करना चाहिए। उनके इस काम में पति और परिवार का भरपूर सहयोग रहता है, जिससे वे लगातार मोटिवेटेड रहती हैं।

 

बता दें कि विजिथा साइकोलॉजी की पढ़ाई कर रही हैं और आजकल रिसाइकिलिंग पर एक किताब भी लिख रही हैं।

 

 

कचरे को किस तरह फिर से इस्तेमाल में लाया जाए, इसे लेकर लोगों में अब जागरुकता बढ़ रही है। ऐसी खबरें उत्साहित और आशान्वित करती हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement