मुंबई के इस इलाके में नीले पड़ रहे हैं कुत्ते, वजह आपको सोचने पर मजबूर कर देगी

author image
Updated on 21 Aug, 2017 at 7:44 pm

Advertisement

अमूमन कुत्तों का रंग काला, सफेद और भूरा होता है, लेकिन मुंबई की सड़कों पर नीले रंग के कुत्ते दिखाई दे रहे हैं। इन कुत्तों की तस्वीर आजकल सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी हुई है।

दरअसल, इन कुत्तों का रंग पहले नीला नहीं था, लेकिन देश में बढ़ते प्रदूषण के कारण इनके शरीर का रंग नीला हो गया है। मुंबई के तलोजा इंडस्ट्रियल एरिया में कई कुत्ते इसके शिकार हो चुके हैं। उनके शरीर के बाल, फर का रंग बदल रहा है।

जब अचानक हो रहे इस बदलाव के बारे में नवी मुंबई पशु संरक्षण सेल को पता चला, तो उन्होंने नीले हो रहे इन कुत्तों की तस्वीर खींच कर महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (एमपीसीबी) में इस मामले की शिकायत दर्ज करवाई।

जब इसकी जांच की गई तो पता चला कि तलोजा इंडस्ट्रियल एरिया में करीब एक हजार दवा, खाद्य और इंजीनियरिंग कारखाने हैं। इन सारी फैक्ट्रीज की गंदगी यहां मौजूद कसादी नदी में गिराई जाती है। कुत्ते जब कुछ खाने की खोज में इस नदी में जाते हैं, तो वहां प्रदूषित जल के संपर्क में आने से उनके शरीर का रंग नीला पड़ जाता है।

महाराष्‍ट्र प्रदूषण बोर्ड के अनुसार, कसादी नदी के पानी में टॉक्‍सिक की मात्रा ज्यादा दर्ज की गई है। इस पानी में मौजूद क्‍लोराइड पेड़-पौधों व जीव-जंतुओं के लिए नुकसानदायक है। साथ ही इस प्रभावित एरिया में प्रदूषण का स्तर 13 गुना ज्यादा पाया गया है। सिर्फ जानवर और पेड़ पौधे ही नहीं, बल्कि इस प्रदूषित जल से इंसानों की सेहत पर भी असर पड़ सकता है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement