26/11 के हीरो रहे ‘मैक्स’ की कब्र से हटते नहीं उसके साथी दोस्त

author image
4:44 pm 12 Apr, 2016

Advertisement

आजकल जहां इंसान छोटी-छोटी बातों पर एक-दूसरे को मारने पर उतारू हो जाता है। उस दौर में इंसानियत, दोस्ती, प्यार क्या होता है, इन कुत्तों से सीखना चाहिए। असल मायने में ये कुत्ते सिखा रहे हैं कि क्या होती है दोस्ती और प्यार।

सुल्तान, सीजर और टाइगर नाम के ये तीन कुत्ते अपने साथी दोस्त मैक्स की कब्र से दूर नहीं हो रहे है। मैक्स वही कुत्ता है, जिसने 26/11 आतंकी हमलों के दौरान मुंबई पुलिस की मदद करते हुए आठ किलोग्राम विस्फोटक और 25 ग्रेनेड्स का पता लगाया था।

मैक्स की अभी हाल ही में मृत्यु हो गई थी। मैक्स को तिरंगे में लपेटकर, पूरे सम्मान के साथ आखिरी विदाई दी गई थी।

मैक्स को विरार के खेत में दफनाया गया था। तब से उसके तीनों खास दोस्त उसकी कब्र के पास से नहीं हटते।

दिन-रात वे उसकी कब्र के पास बैठे रहते हैं। यहां तक कि उन्होंने खेलना भी छोड़ दिया है। जब उन्हें मैक्स की कब्र से हटाया जाता है, तो वह मैक्स के लिए बनाए गए घर में घुसने की कोशिश करते हैं।


Advertisement

फिजा शाह, जिन्होंने मैक्स और उसके साथियों को बम डिटेक्शन ऐंड डिस्पोजल स्क्वायड से रिटायर होने के बाद गोद लिया था, बताती हैंः

“जब भी ये बाहर जाते हैं, मैक्स की कब्र पर चले जाते हैं। हम अच्छे खाने और खेलों से उनका ध्यान बंटाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं लेकिन दुख से उबरने में वक्त लगता है।”

साल 2008 में 26/11 आतंकी हमलों में मैक्स ने सैकड़ों लोगों की जान बचाई थी। मैक्स बम निरोधक दस्ते का हिस्सा था। वह 2015 में रिटायर हो गया था।

मुंबई पुलिस के मुताबिक हमले के दौरान अगर मैक्स आईईडी आैर हैंडग्रेनड का पता न लगा पाता तो कई लोगों की जान जा सकती थी।

Advertisement
Tags

आपके विचार


  • Advertisement