यह कुत्ता रोज बच्चों के साथ कई किलोमीटर चल कर आता है स्कूल; करता है रखवाली

author image
Updated on 7 Feb, 2016 at 4:38 pm

Advertisement

कुत्ते और इन्सान की दोस्ती की कई कहानियां हैंं। इसी तरह की एक कहानी देखने को मिली है है हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले में। यहां के ग्रामीण इलाके में एक कुत्ता बच्चों के साथ रोज कई किलोमीटर चलकर स्कूल पहुंचता है।

सारा दिन यहां गुजारकर फिर उन बच्चों के साथ वापस चला जाता है। जी हां, यहां जंगल के बीच एक सरकारी स्कूल है, जहां दूर-दराज से बच्चे पढ़ने के लिए आते हैं। करीब चार किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक गांव से बच्चों के साथ काले रंग का कुत्ता भी चला आता है।

हैरानी इस बात की है कि यह कुत्ता किसी भी हाल में एक दिन की भी छुट्टी नहीं करता। जब तक बच्चे कक्षा में होते हैं, वह बाहर इंतजार करता है।


Advertisement

शुरू में शिक्षकों को कुत्ते का बच्चों के साथ आना अजीब लगता था, इसलिए उसे बांध कर रखने की कोशिश की गई। लेकिन यह तरीका कुत्ते को बच्चों से अलग करने में कारगर साबित नहीं हुआ। अब तो मिड डे मील में स्कूली बच्चों के साथ कुत्ते को भी हिस्सा मिलता है।

वहीं, कुत्ते ने अध्यापकों और अभिभावकों की एक बड़ी समस्या सुलझा दी है, जिसे लेकर वे परेशान रहते थे। दरअसल, जंगलों में बने इस स्कूल में बंदरों का बहुत आतंक रहता था। बंदर अक्सर बच्चों का बैग और मिड डे मील के बरतन उठाकर ले जाते थे।

अब इस कुत्ते ने बंदरों से निपटने का बीड़ा उठा लिया है। यह कुत्ता स्कूल कैम्पस के अंदर एक भी बंदर को फटकने नहीं देता और यहां की रखवाली भी करता है।

Advertisement
Tags

आपके विचार


  • Advertisement