परिवार को लगा था उन्होंने अपने सबसे प्यारे डॉग को खो दिया है, लेकिन वह ‘हीरो’ बनकर लौटा

author image
Updated on 19 Jan, 2018 at 7:02 pm

Advertisement

कुत्तों की इंसानों से दोस्ती और वफादारी के चर्चे तो आम हैं। कुत्ता अपने मालिक से बहुत प्यार करता है और वक्त आने पर अपने मालिक के लिए अपनी जान भी खतरे में डाल देता है। कुत्ते और इंसान के इस खूबसूरत और भावुक रिश्ते पर कई फिल्में भी बनी है।

कहा जाता है कि कुत्ता ऐसा पहला जानवर है जिसे इंसान ने घरों में पालना शुरू किया। दुनिया में कई लोग ऐसे हैं जो कुत्तों को अपने घर का सदस्य मानते हैं और उनसे बेहिसाब प्यार करते हैं। और जब वह थोड़ी देर के लिए भी आंखों के सामने से ओझल हो जाए तो उनकी कमी बेचैन कर देती है।

आज हम आपको एक कुत्ते और उसके मालिक के प्यार की ऐसी ही कहानी बताने जा रहे हैं जो अचानक से घर से गायब हो गया और फिर शाम होते-होते वापस आ गया।

दरअसल, हुआ यूं कि 12 साल का लुई (शीपडॉग) के अचानक घर से गायब हो जाने के कारण उसके मालिक बहुत चिंता में थे। उन्होंने उसे आस-पास सब जगह ढूंढा, लेकिन वो नहीं मिला। उन्हें डर सता रहा था कहीं उनके लुई के साथ कुछ गलत या अनहोनी घटना न हो गई हो। लेकिन मामला कुछ और ही था।

 

इस घटना के बारे में बताते हुए लुई के मालिक की बेटी मैरोलिन डाइवर ने फेसबुक पर लिखाः

 

“वो सुबह गया और दोपहर के बाद जब वो वापस आया तो हमें तसल्ली नहीं हुई। वो बहुत थका हुआ था और अचानक बेहोश होकर गिर पड़ा। हमें लगा कि उसे चोट लगी है। तभी मेरी मां ने नोटिस किया कि उसकी कॉलर पर कुछ लिखा हुआ नोट लटका है।”

 

लुई की कॉलर पर लटके नोट पर लिखा था, “लुई हीरो ऑफ़ द डे है। मेरी डॉग मैडी (फ़ीमेल डॉग) पेड़ की टूटी हुई डाल के नीचे फंस गई थी। उसने मैडी को वहां से निकालने में मेरी मदद की।” ये नोट रॉब नाम के शख्स ने लिखा था।

 


Advertisement

ये बात जानने के बाद मालिक की बेटी मैरोलिन ने तुरंत ही लुई को कम्बल उढ़ाया। लुई ने आराम किया और फिर दूसरे दिन सुबह बाहर निकला।

मैरोलिन बताती हैं कि रॉब एक किसान हैं, जो उनके घर के पास ही रहते हैं। वह लुई को अक्सर प्यार से दुलारते हैं। लुई के साथ क्या हुआ है ये जानने के लिए न्यूजीलैंड में रहने वाले ये परिवार ने रॉब को अपने घर बुलाया।

रॉब ने बताया कि उस दिन मैडी घर से निकल गई थी और उन्हें शहर से बाहर जाना था। वे उसको ढूंढने के लिए नहीं जा पा रहे थे। लुई जबरदस्ती उसे खींच कर वहां ले गया, जहां मैडी फंसी हुई थी।

लुई ने मैडी को बाहर निकालने में रॉब की मदद की। उसने रॉब के साथ मिलकर पेड़ की भारी शाखाओं को खींचा और उस जगह के आस-पास गड्ढा भी खोदा, ताकि मैडी को बाहर आने में आसानी हो सके।

 

 

इस तरह मैडी बाहर निकल आई। इसके बाद रॉब ने लुई को बिस्किट्स खिलाए और उसे प्यार दुलार दिया। रॉब ने मीडिया से बातचीत में बतायाः

 

“मुझे लगा लुई के घरवाले उसके लिए परेशान होंगे, इसलिए मैंने लुई के पट्टे पर नोट लिखकर लटकाया, ताकि उसके घर वालों को पता चल जाए कि वो कहां फंसा था।”

 

12 साल के लुई की सतर्कता और बहादुरी के किस्सों की प्रशंसा सोशल मीडिया पर खूब हो रही है। ये कहना गलत नहीं होगा कि लुई कहीं गायब नहीं, बल्कि रेस्क्यू मिशन पर लगा हुआ था।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement