Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

दीर्घेश्वरनाथ मंदिर में आज भी अश्वत्थामा करते है पूजा-अर्चना!

Published on 30 October, 2017 at 9:01 am By

गुरु द्रोणाचार्य के पुत्र अश्वत्थामा भगवान शिव के अंश हैं और चिरायु भी हैं। बताया जाता है कि वे आज भी उत्तर प्रदेश में स्थित दीर्घेश्वरनाथ मंदिर में पूजा अर्चना करने आते हैं।


Advertisement

यह पौराणिक मंदिर स्थित है देवरिया जिले के मझौलीराज के निकट हिरण्यावती नदी के तट पर। कहा जाता है कि अश्वत्थामा यहां नित्य पूजा करने आते हैं, लेकिन उन्हें कोई देख नहीं पाता। मंदिर के महंत जगन्नाथ दास के अनुसार चिरंजीवी अश्वत्थामा मस्तक के घाव के कारण आज भी तड़पते और इधर-उधर भटकते हैं।

स्थानीय लोग मानते हैं कि अश्वत्थामा इस मंदिर में रात के तीसरे पहर में आते हैं। सुबह जब मंदिर का द्वार खोला जाता है तो यहां पर सारी पूजन-सामग्री शिवलिंग पर चढ़ी मिलती है।



भगवान शिव भक्तों को दीर्घायु बनाते हैं फलतः इस मंदिर को दीर्घेश्वरनाथ महादेव मंदिर कहा जाता है। दीर्घेश्वरनाथ महादेव में लोगों की बहुत आस्था है। पूरे साल यहां भक्तों का जमावड़ा लगा रहता है। अधिमास में यहां मेला लगता है तो सावन के महीने में बड़ी संख्या में भक्त आते हैं। मान्यता है कि यहां शिवलिंग स्वयंभू है। जो भी भक्त सच्चे मन से आराधना करते हैं, दीर्घेश्वरनाथ उनकी सभी मनोकामना पूरी करते हैं और दीर्घायु बनाते हैं।


Advertisement

साथ ही इस मंदिर को महाभारत काल के चिरंजीवी अश्वत्थामा की तपस्थली के रूप में जाना जाता है। ज्ञात हो कि पुराण के अनुसार अश्वत्थामा, बलि, व्यास, हनुमान, विभीषण, कृपाचार्य और भगवान परशुराम ये सभी सात महामानव हजारो सालों से जीवित हैं।

Advertisement

नई कहानियां

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा


मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया

मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया


क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए

क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए


G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!

G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!


Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा

Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर