शर्मनाक ! धोती पहने शख्स को मॉल में घुसने नहीं दिया गया, अंग्रेजी में जवाब दिया तो मिली एंट्री

author image
Updated on 17 Jul, 2017 at 9:18 pm

Advertisement

पेशे से फिल्मकार आशीष अविकुंतक नाम के एक शख्स को कोलकाता के क्वेस्ट मॉल में सिर्फ इसलिए नहीं घुसने दिया गया क्योंकि उन्होंने धोती पहनी हुई थी।

देबलीना सेन नाम की एक फेसबुक यूजर ने इस घटना से सम्बंधित दो विडियो पोस्ट कर यह दावा किया है। देबलीना लिखती हैं-

“रेस्टोरेंट के बाद अब मॉल में घुसने को लेकर पाबंदी देखी जा रही है। धोती और कुर्ता पहने शख्स को आज कोलकाता के क्वेस्ट मॉल में घुसने नहीं दिया गया। बताया गया है कि इस मॉल में किसी के धोती या लुंगी पहनकर आने पर मनाही है।”

धोती पहने शख्स ने जब अंग्रेजी भाषा में मॉल के अधिकारी से बहस करनी शुरू की, तब जाकर उसने वॉकी-टॉकी पर अपने सीनियर से आज्ञा लेने के बाद, उन्हें मॉल में प्रवेश करने दिया।

देबलीना ने आगे लिखा-

“बाहर खड़े गार्ड ने उसे रोका और फिर वॉकी-टॉकी पर किसी से बात करके तब इस व्यक्ति को अंदर जाने दिया जब वह अंग्रेज़ी में बहस करने लगा।”

इसके आगे वह लिखती हैं-

“अंदर हमने मैनेजमेंट टीम से संपर्क किया और उसने हमें साफ कहा कि वे लोग धोती और लुंगी पहने हुए लोगों को अंदर नहीं आने देते। इसके बाद जब उस जगह की मैनेजर सामने बैठकर बात करने लगी तो उसने मुझे कड़े तरीके से कहा कि मैं विडियो नहीं बना सकती, जबकि किसी भी सार्वजनिक जगह पर रिकॉर्ड करने का मेरा अधिकार है। तब हमने तय किया बेहतर है कि इस बकवास जगह से चला जाए।”


Advertisement

धोती पश्चिम बंगाल के पारंपरिक परिधान का हिस्सा है। किसी भी शख्स के साथ इस तरह का व्यवहार भेदभाव करने जैसा है। यह समाज में मौजूद नस्लीय भेदभाव का एक और उदाहरण है।

इस घटना का विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। लोग इस घटना पर आक्रोश व्यक्त कर रहे हैं।

एक कमेंट में लिखा गया है कि क्यों न एक आंदोलन शुरू किया जाए, जिसमें 100 लोग धोती या लुंगी पहनकर मॉल में घुसे। तो कइयों ने मॉल का बहिष्कार करने को कहा है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement