यमुना में दौड़ेगी वॉटर टैक्सी, 45 मिनट में दिल्ली से पहुंचेंगे हरियाणा

author image
Updated on 1 Feb, 2017 at 2:49 pm

Advertisement

यमुना नदी में वॉटर टैक्सी चलाने की दिशा में काम हो रहा है। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि जून महीने से यहां वॉटर टैक्सी का परिचालन शुरू हो जाएगा। वॉटर टैक्सी के जरिए हरियाणा और उत्तर प्रदेश के उन लोगों को लाभ मिलेगा जो रोजाना दिल्ली का सफ़र करते हैं। फिलहाल इस बाबत परियोजना तैयार हो गई है और वॉटर टैक्सी के लिए टेंडर भी जारी कर दिया गया है।

इस परियोजना के पहले चरण में वजीराबाद बैराज से फतेहपुर जट के बीच 16 किलोमीटर लंबा सफर वॉटर टैक्सी से 45 मिनट में पूरा किया जा सकेगा। सड़क मार्ग से यह दूरी तय करने में करीब 3.5 घंटे का समय लगता है।

राजधानी दिल्ली में ट्रैफिक जाम गंभीर समस्या है। इस वजह से हरियाणा और दिल्ली से सटे इलाक़ों के लोगों को काफ़ी तकलीफ़ों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में यमुना में वॉटर टैक्सी चलाए जाने की योजना कारगर होगी।

योजना के तहत यमुना के पानी में तैरने वाले पांच पोर्ट बनाए जाएंगे। इन पोर्ट से ही बोट चलाई जाएंगी। सरकार का दावा है कि यह टैक्सी परियोजना पूरी तरह पर्यावरण के अनुकूल होगी। परियोजना पर केंद्र 28 करोड़ रुपए खर्च करेगा।


Advertisement

हालांकि, कई रिपोर्ट्स में बताया गया है कि यमुना नदी वॉटर टैक्सी जैसी परियोजना के अनूकूल नहीं है। रिपोर्ट के मुताबिक, इस जलक्षेत्र में वॉटर टैक्सी परियोजना शुरू करने के लिए यमुना में पर्याप्त गहराई की जरूरत है। इनलैंड वाटरवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि यमुना किनारे कोई भी स्थायी निर्माण नहीं किया जाएगा।

फिलहाल, वॉटर टैक्सी के लिए टेंडर जारी कर दिया गया है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement