दिल्ली में शर्मशार हुई इन्सानियत; 29 मिनट में गुजरे 450 वाहन, किसी ने नहीं की घायल की मदद

author image
Updated on 13 Aug, 2016 at 3:52 pm

Advertisement

दिल्ली वालों की बेदिली का एक शर्मनाक वाकया सामने आया है। सुभाष नगर इलाके में दुर्घटना का शिकार व्यक्ति करीब 90 मिनट तक सड़क पर पड़ा मर गया, लेकिन उसकी मदद करने कोई नहीं आया। इस दौरान यहां से करीब 450 वाहन और कई पैदल यात्री भी गुजरे, लेकिन घायल व्यक्ति की तरफ किसी ने मदद को हाथ नहीं बढ़ाया।

हैरत की बात यह है कि इस दौरान यहां से एक पुलिस वैन भी गुजरी थी। इस दौरान एक ऐसा व्यक्ति भी आया जो उसकी मोबाइल लेकर निकल गया। यह घटना सीसीटीवी में दर्ज हो गई। दुर्घटना के करीब डेढ़ घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची।

दुर्घटना में मारे व्यक्ति की शिनाख्त पश्चिम बंगाल के निवासी मतिबुल के रूप में की गई है। वह अपनी रात की नौकरी पूरी करने के बाद सुबह घर वापस जा रहा था। तभी पीछे से तेज गति से आ रहे एक टेम्पो ने उसे जोरदार टक्कर मारी। वह दूर छिटक कर सड़क किनारे गिर गया।

अगर समय रहते मतिबुल को अस्पताल पहुंचाया गया होता तो उसकी जान बच सकती थी। लेकिन दिल्ली के लोगों ने मानवता नहीं दिखाई। इस तरह के वाकये पहले भी सामने आ चुके हैं जब दुर्घटना में घायल लोग दम तोड़ देते हैं, लेकिन उनकी मदद को कोई सामने नहीं आता है।



इस घटना ने वाकई इन्सानियत को शर्मशार किया है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement