Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

माओवादियों के साथ संपर्क में थीं दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रोफेसर, एक्टिविस्ट

Published on 18 May, 2017 at 5:25 pm By

छत्तीसगढ़ में आत्मसमर्पण करने के बाद एक माओवादी नेता ने दावा किया है कि दिल्ली विश्वविद्यालय की एक प्रोफेसर तथा मानवाधिकार कार्यकर्ता बड़े माओवादी नेताओं के साथ संपर्क में थीं। इस रिपोर्ट के मुताबिक, प्रोफेसर का नाम नंदिनी सुंदर है, जबकि मानवाधिकार कार्यकर्ता हैं बेला भाटिया।


Advertisement

माओवादी पोडियम पांडा ने दावा किया है कि वह दक्षिण बस्तर में वरिष्ठ माओवादी नेताओं और नंदिनी सुंदर व बेला भाटिया के बीच (संपर्क के लिए) ‘एकमात्र लिंक’ था। पांडा का दावा है कि वह इन्हें सुकमा के घने जंगलों में बाइक पर रमन्ना, हिडमा पपाराव आयतु तथा अर्जुन सरीखे माओवादी नेताओं के साथ बैठक कराने ले जाता था। हिडमा को सुकमा हमले का मास्टरमाइंड माना जाता है।



सुकमा के एसपी अभिषेक मीणा ने बतायाः

‘माओवादी पोडियम पांडा माओवादियों के अंदर के कैडर और दिल्ली, रायपुर व अन्य शहरों के नेटवर्क सिस्टम के बीच बतौर लिंक काम कर रहा था। वह कई हमलों में भी शामिल रहा।’

दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रोफेसर नंदिनी सुंदर ने इन आरोपों को खारिज किया है। नंदिनी का आरोप है कि पोडियम पांडा से पुलिस कस्टडी में बलपूर्वक यह कबुलवाया गया है।

Express Photo


Advertisement

इसी बीच, पांडा की पत्नी ने छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट याचिका दायर कर आरोप लगाया है कि पोडियम पांडा को जिला पुलिस तथा CRPF की संयुक्त टीम ने जबरन कैद करवा रखा है। पांडा की पत्नी का दावा है कि उसे गैरकानूनी रूप से हिरासत में लिया गया है।

Advertisement

नई कहानियां

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं

Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर