फ्लाईओवर बनाने में हुई बचत से होगी फ्री जांच और दी जाएंगी मुफ्त दवाइयां

author image
Updated on 22 Jun, 2016 at 7:40 pm

Advertisement

दिल्ली सरकार ने एक फरवरी से सभी अस्पतालों में निःशुल्क जांच और ज़रूरी दवाइयों को फ्री करने का फैसला किया है। सरकार ने 3 फ्लाइओवर प्रॉजेक्ट्स से हुई बचत के पैसों का इस्तेमाल सरकारी अस्पतालों में दवाओं और जांच निःशुल्क मुहैया कराने का ऐलान किया।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने खुद इसकी घोषणा की। बाहरी रिंग रोड पर मंगोलपुरी से मधुबन चौक के बीच एलिवेटिड कॉरिडोर के उद्घाटन के दौरान इस बात का ऐलान किया गया।

केजरीवाल ने कहा कि कॉरिडोर के प्रोजेक्ट के लिए 450 करोड़ की रकम मंजूर की गई थी। उन्होंने दावा किया कि इस कॉरिडोर का निर्माण 300 करोड़ की राशि की लागत में ही पूरा हो गया। केजरीवाल ने इस प्रोजेक्ट की शुरुआत के लिए दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का भी शुक्रिया अदा किया।


Advertisement

दवाइयां और जांच निःशुल्क कराने का फैसला शहर के लोक निर्माण विभाग के प्रयासों से मुमकिन हो सका है, जिसकी अगुआई राज्य के गृहमंत्री सत्येंद्र जैन कर रहे हैं। इस अवसर पर केजरीवाल ने कहाः

“जैन और मैंने अनुमान लगाया था कि अगर हम सरकारी अस्पतालों में एक्सरे, अल्ट्रासाउंड, खून की जांच जैसी सुविधाएं और दवाइयां फ्री देना चाहते हैं, तो हमें करीब 350 करोड़ रुपए अलग रखने होंगे। अब एलिवेटिड कॉरिडोर बनाने में बचाया गया पैसा इस मकसद से इस्तेमाल में लाया जाएगा।”

दिल्ली सरकार द्वारा 1 फरवरी को एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया जाएगा, जिसका इस्तेमाल लोग अस्पताल में दवाओं की कमी के बारे में सूचित करने के लिए कर सकते हैं।

साथ ही ऐसा सिस्टम बनाया जा रहा है, जिससे अगर मरीज़ को अस्पताल में दवाई न मिले तो वह दवाई के पर्चे की फोटो खींचकर व्हाट्सएप से भेज दे और फोटो डाले जाने पर दवाई उसे वहीं उपलब्ध कराई जाएगी।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement