80 फीसद बच्चों ने प्राइवेट स्कूल छोड़कर लिया इस सरकारी स्कूल में दाखिला!

author image
Updated on 13 Aug, 2017 at 6:52 pm

Advertisement

देश में सरकारी स्कूलों को लेकर जो अभिभावकों की धारणा है वो किसी से छुपी नहीं है। वे अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूलों में पढ़ाना चाहते हैं। फिर चाहे इसके लिए कितना भी पैसा उन्हें स्कूलों को देना हो, लेकिन देश की राजधानी दिल्ली में एक ऐसा स्कूल है, जो अच्छे से अच्छे प्राइवेट स्कूल को मात दे रहा है।

हम बात कर रहे हैं रोहिणी सेक्टर-21 फेज 3 के गवर्नमेंट सर्वोदय को-एड विद्यालय की। इसी साल अप्रैल में बनकर तैयार हुए इस सरकारी स्कूल में 80 प्रतिशत बच्चे प्राइवेट स्कूलों को छोड़कर आए हैं।


Advertisement

यहां तक कि 11वीं क्लास में 99 फीसद दाखिले प्राइवेट स्कूलों से आए बच्चों के हुए हैं। स्कूल के शुरू होने के करीबन साढ़े तीन महीने के अंतराल में ही अब तक यहां करीबन 1200 बच्चों का एडमिशन हो चुका है। यहां पर नर्सरी से लेकर 12वीं क्लास तक के बच्चों के दाखिले हुए हैं।

यह स्कूल इंफ्रास्ट्रक्चर के मामले में किसी भी प्राइवेट स्कूल को पटखनी देता हुआ दिख रहा है। बच्चों की यूनिफॉर्म के डिज़ाइन का भी खास ख्याल रखा गया है। स्कूल में कंप्यूटर लैब व लाइब्रेरी की भी व्यवस्था है। वहीं स्कूल में सीसीटीवी लगाने, वॉटर कूलर, साइकल स्टैंड, बॉस्केटबॉल कोर्ट बनाने समेत कई अहम प्रपोजल भी प्राप्त हो रहे हैं।

school

ये है स्कूल का ऑडिटोरियम thelogicalindian

इस स्कूल में जो सुविधाएं दी गई हैं, यही कारण है कि अभिभावक अपने बच्चों का दाखिला इस स्कूल में करा रहे हैं। बच्चों के परिजनों को इस बात की खुशी  है कि बच्चों को कम फीस में अच्छी शिक्षा मिल रही है। वाकई यह स्कूल देश के बाकी सरकारी स्कूलों के लिए एक मिसाल बनकर उभर रहा है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement